Saturday, January 20, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

उत्तराखंड की बेटी ‘प्रियंका’ ने एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में मनवाया अपना लोहा, कांस्य पर किया कब्जा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड की बेटी ‘प्रियंका’ ने एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में मनवाया अपना लोहा, कांस्य पर किया कब्जा

देहरादून। एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में उत्तराखंड की बेटी ने भी अपना लोहा मनवाया है। मूल रूप से काशीपुर से प्रियंका चौधरी ने वियतनाम में हुई एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में 60 किलोग्राम भार वर्ग में कांस्य पदक जीता है। बता दें कि  प्रियंका पिछले तीन साल से नेशनल चैंपियन हैं। यहां यह भी जान लें कि प्रियंका उत्तराखंड की एक मात्र ऐसी खिलाड़ी हैं जो देश का प्रतिनिधित्व किया है। 

कोरिया की खिलाड़ी से हारी

गौरतलब है कि क्वार्टर फाइनल बाउट में प्रियंका ने 60 किग्रा भारवर्ग में खेलते हुए श्रीलंका की मुक्केबाज को हराया। इसके बाद सेमीफाइनल में प्रियंका का सामना कोरिया की मुक्केबाज से हुआ, लेकिन वे यह बाउट हार गईं वहीं सेमीफाइनल में हार के बाद प्रियंका को कांस्य पदक पर संतोष करना पड़ा। 

ये भी पढ़ें -  शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़े में अजीबोगरीब मामला आया सामने, 21 सालों से एक ही प्रमाण पत्र पर कार्यर...


 

हरजीत संधु से सीखी बारीकियां

आपको बता दें कि फिलहाल प्रियंका चौधरी रेलवे की तरफ से खेलती हैं। उससे पहले उत्तराखंड की तरफ से खेलते हुए प्रियंका स्टेट चैंपियन भी रह चुकी हैं। पिछले तीन साल से वे लगातार 60 किग्रा भारवर्ग में नेशनल चैंपियन हैं। गौर करने वाली बात है कि प्रियंका ने मुक्केबाजी की बारीकियां अपने कोच हरजीत सिंह संधु से सीखीं और उनकी देखरेख में ही राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई। इस उपलब्धि पर उत्तराखंड बॉक्सिंग संघ के सचिव डॉ. धर्मेंद्र भट्ट, कोच पूजा यादव, प्रियंका के भाई पुष्पेंद्र चौधरी ने उन्हें बधाई दी है।

Todays Beets: