Monday, December 17, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

राज्य में शिक्षकों को 3 महीनों से नहीं मिला वेतन, दी आंदोलन की चेतावनी 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राज्य में शिक्षकों को 3 महीनों से नहीं मिला वेतन, दी आंदोलन की चेतावनी 

देहरादून। राज्य सरकार की खराब माली हालत का खामियाजा शिक्षकों और प्राध्यापकों को भुगतना पड़ रहा है। डीएवी, डीबीएस समेत कई अशासकीय काॅलेजों के प्राध्यापकों को पिछले 3 महीनों से वेतन नहीं मिला है। लगातार सरकारी आश्वासनों से ऊब चुके इन प्राध्यापकों और कर्मचारियों ने अब सरकार को आंदोलन की चेतावनी दी है। यहां बता दें कि एसजीआरआर काॅलेज के कर्मचारियों को तीन महीने की जगह एक महीने का वेतन दिया गया है। ऐसे में शिक्षा व्यवस्था के एक बार फिर से चरमराने की संभावना बढ़ गई है। 

सूने रहे त्योहार 

गौरतलब है कि कई अशासकीय काॅलेजों के प्राध्यापकों और कर्मचारियों को दिसंबर से फरवरी तक का वेतन नहीं मिला है। अब इस महीने आयकर रिटर्न और अप्रैल में बजट की कमी के चलते आने वाले कुछ महीनों तक वेतन नहीं मिलने की चिंता सता रही है। डीबीएस शिक्षक संघ का कहना है कि उन्हें सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा है। उनसे कहा गया कि होली के अवसर पर वेतन दिया जाएगा लेकिन होली भी बीत गई अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। 


ये भी पढ़ें - फर्जी दस्तावेज पर वन विभाग में आरक्षी बने युवा को पुलिस ने किया गिरफ्तार, भेजा गया जेल

आर्थिक परेशानियों का सामना

डीएवी के विधि विभागाध्यक्ष डा. पारुल दीक्षित ने बताया कि दिवाली पर भी वेतन नहीं मिला था। होली पर भी वही स्थिति रही। उत्तरांचल विश्वविद्यालय महाविद्यालय शिक्षक महासंघ (फुक्टा) के महामंत्री डा.वीसी पाण्डेय ने कहा कि ऐसी स्थिति में शिक्षकों को आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ रहा है। यहां बता दें कि 3 महीनों से वेतन नहीं मिलने के चलते इन शिक्षकों के सामने कई तरह की समस्याएं सामने आ गई हैं।  

Todays Beets: