Saturday, October 20, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

हमें सकारात्मक सोच के साथ गुड गवर्नेंस पर ध्यान देना होगा - त्रिवेंद्र सिंंह रावत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हमें सकारात्मक सोच के साथ गुड गवर्नेंस पर ध्यान देना होगा - त्रिवेंद्र सिंंह रावत

देहरादून । उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मंगलवार को सचिवालय में राज्य स्थापना सप्ताह के अवसर पर आयोजित रन फॉर गुड गवर्नेन्स को झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर बोलते हुए सीएम रावत ने कहा कि आज हम सचिवालय के लोग यहाँ पर रन फॉर गुड गवर्नेंन्स के लिए दौड़ रहे हैं। सचिवालय की परिक्रमा करके हम प्रदेश के विकास की गति का संदेश देंगे। हमें गुड गवर्नेंन्स पर ध्यान देना है। राज्य की विकास की गति तेजी से दौड़े, यह संकल्प लेकर हमें दौड़ना है। हमें सकारात्मक सोच बनानी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य 17 वर्ष पूरे करने जा रहा है। हमने रैबार कार्यक्रम से इसकी शुरुवात की है। देश के महत्वपूर्ण स्थानों पर उत्तराखण्ड के लोगों को इसमें सम्मिलित करने का प्रयास किया। उन्होंने महसूस किया कि वे लोग अपने घर आए, यही महसूस कराना रैबार कार्यक्रम का लक्ष्य था।

उन्होंने कहा कि 2 नदियों अल्मोड़ा में कोसी और देहरादून में रिस्पना (ऋषिपर्णा) नदी के पुनर्जीवीकरण का कार्यक्रम शुरू किया। यदि हम अभी भी नहीं बदले तो इन नदियों का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा। हमने इसके लिए दीर्घकालिक योजना पर कार्य करना है। यह कार्य जन सहयोग से होना है। हमने तय किया है कि इस कार्य को सरकारी और सहकारी भाव किया जाना है। इसके लिए परमार्थ निकेतन ने एक करोड़ रूपए की सहायता की घोषणा की। रिस्पना के लिए ऐसी रणनीति बनानी है कि इसमें जितने भी पौधे लगेंगे, उन्हें एक दिन में लगाया जाएगा। उन्होंने आह्वान किया कि इसमें सभी लोग सम्मिलित हों, तभी यह अभियान सफल होगा।


मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे आई.ए.एस. अधिकारी विद्यालयों में गए। उन्होंने विद्यालयों की स्थिति और विद्यार्थियों की स्थिति को समझा होगा। नीति निर्धारक जब सच्चाई को जानेंगे, स्थिति को समझेंगे तो उसके अनुसार नीतियाँ बना पाएंगे।इस अवसर पर मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह सहित वरिष्ठ अधिकारीगण एवं सचिवालय के सभी  अधिकारी व कर्मचारीगण उपस्थित थे।

Todays Beets: