Wednesday, May 22, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

सड़क निर्माण में इस्तेमाल होगा हरिद्वार में जब्त पाॅलीथिन, नगर निगम आयुक्त का ऐलान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सड़क निर्माण में इस्तेमाल होगा हरिद्वार में जब्त पाॅलीथिन, नगर निगम आयुक्त का ऐलान

हरिद्वार। उत्तराखंड में हाईकोर्ट और नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के द्वारा पाॅलीथिन और उससे बने उत्पाद के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाने के बाद भी हरिद्वार में धड़ल्ले से इसका प्रयोग किया जा रहा है। हाईकोर्ट की सख्ती के बाद प्रशासन ने दुकानों पर छापामार भारी मात्रा में पाॅलीथिन जब्त किया है। खबरों के अनुसार नगर निगम के पास इतनी मात्रा में पाॅलीथिन जमा हो गई है कि उसके पास रखने की जगह नहीं बची है। अब निगम आयुक्त ने इसे लोक निर्माण विभाग को देने और इसका इस्तेमाल सड़क निर्माण में करने की बता कही है। 

गौरतलब है कि पाॅलीथिन से बनने वाली सड़क ज्यादा टिकाऊ होती है साथ ही इसकी लागत भी कम आती है। उत्तराखंड में हाईकोर्ट और एनजीटी ने प्रतिबंध लगाया हुआ है। इसके बाद भी देवभूमि में पाॅलीथिन का धड़ल्ले से इस्तेमाल हो रहा है। एक बार फिर से हाईकोर्ट द्वारा इस पर सख्ती बरतने के बाद जिला प्रशासन ने दुकानों पर छापेमारी कर भारी मात्रा में पाॅलीथिन जब्त किया है। भारी मात्रा में पाॅलीथिन के जमा होने पर नगर निगम ने इसे लोक निर्माण विभाग को देने का फैसला लिया है। 


ये भी पढ़ें - गंगा की रक्षा के लिए अनशन कर रहे संत गोपाल दास दून अस्पताल से गायब, प्रशासन में मचा हड़कंप

यहां बता दें कि नगर निगम आयुक्त ललित नारायण मिश्रा ने कहा कि अब उनके पास पाॅलीथिन रखने की जगह नहीं है और प्रदेश में इसकी रिसाइकलिंग के लिए कोई मशीन भी नहीं है। ऐसे में उन्होंने दून के परेड ग्राउंड के पास बनी सड़क का उदाहरण देते हुए कहा कि पाॅलीथिन का इस्तेमाल सड़क निर्माण में किया जा सकता है। निगम आयुक्त ने कहा कि पाॅलीथिन से बनने वाली सड़कें काफी मजबूत होती हैं और इसमें लागत भी कम आती है। 

Todays Beets: