Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

सड़क निर्माण में इस्तेमाल होगा हरिद्वार में जब्त पाॅलीथिन, नगर निगम आयुक्त का ऐलान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सड़क निर्माण में इस्तेमाल होगा हरिद्वार में जब्त पाॅलीथिन, नगर निगम आयुक्त का ऐलान

हरिद्वार। उत्तराखंड में हाईकोर्ट और नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के द्वारा पाॅलीथिन और उससे बने उत्पाद के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाने के बाद भी हरिद्वार में धड़ल्ले से इसका प्रयोग किया जा रहा है। हाईकोर्ट की सख्ती के बाद प्रशासन ने दुकानों पर छापामार भारी मात्रा में पाॅलीथिन जब्त किया है। खबरों के अनुसार नगर निगम के पास इतनी मात्रा में पाॅलीथिन जमा हो गई है कि उसके पास रखने की जगह नहीं बची है। अब निगम आयुक्त ने इसे लोक निर्माण विभाग को देने और इसका इस्तेमाल सड़क निर्माण में करने की बता कही है। 

गौरतलब है कि पाॅलीथिन से बनने वाली सड़क ज्यादा टिकाऊ होती है साथ ही इसकी लागत भी कम आती है। उत्तराखंड में हाईकोर्ट और एनजीटी ने प्रतिबंध लगाया हुआ है। इसके बाद भी देवभूमि में पाॅलीथिन का धड़ल्ले से इस्तेमाल हो रहा है। एक बार फिर से हाईकोर्ट द्वारा इस पर सख्ती बरतने के बाद जिला प्रशासन ने दुकानों पर छापेमारी कर भारी मात्रा में पाॅलीथिन जब्त किया है। भारी मात्रा में पाॅलीथिन के जमा होने पर नगर निगम ने इसे लोक निर्माण विभाग को देने का फैसला लिया है। 


ये भी पढ़ें - गंगा की रक्षा के लिए अनशन कर रहे संत गोपाल दास दून अस्पताल से गायब, प्रशासन में मचा हड़कंप

यहां बता दें कि नगर निगम आयुक्त ललित नारायण मिश्रा ने कहा कि अब उनके पास पाॅलीथिन रखने की जगह नहीं है और प्रदेश में इसकी रिसाइकलिंग के लिए कोई मशीन भी नहीं है। ऐसे में उन्होंने दून के परेड ग्राउंड के पास बनी सड़क का उदाहरण देते हुए कहा कि पाॅलीथिन का इस्तेमाल सड़क निर्माण में किया जा सकता है। निगम आयुक्त ने कहा कि पाॅलीथिन से बनने वाली सड़कें काफी मजबूत होती हैं और इसमें लागत भी कम आती है। 

Todays Beets: