Saturday, December 16, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

दिवाली में बढ़ सकती हैं प्रदेशवासियों की परेशानियां, रोडवेज यूनियन ने किया 17 अक्टूबर को कार्यबहिष्कार का ऐलान 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दिवाली में बढ़ सकती हैं प्रदेशवासियों की परेशानियां, रोडवेज यूनियन ने किया 17 अक्टूबर को कार्यबहिष्कार का ऐलान 

देहरादून। दिवाली के मौके पर उत्तराखंड में लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। उत्तराखंड रोडवेज ने समय पर वेतन न मिलने और उनकी अन्य मांगों के पूरा न होने की स्थिति में17 अक्टूबर को एक दिन के कार्यबहिष्कार का ऐलान कर दिया है। उसके बाद 24 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है। ऐसे में रोडवेज प्रबंधन के सामने धनतेरस के मौके पर लोगों को संसाधन कैसे मुहैया कराए जाएं यह समस्या पैदा हो गयी है।

हड़ताल की चेतावनी

गौरतलब है कि प्रदेश में रोडवेज का पहिया थम जाने से लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। रोडवेज यूनियन का कहना है कि सरकार के पास रोडवेज के करोड़ों रुपये का बकाया है। इसकी भरपाई करने के लिए सरकार ने किराया बढ़ाने का ऐलान कर दिया। किराया बढ़ाने के बाद भी कर्मचारियों को समय से वेतन नहीं मिल पा रहा है। सातवें वेतनमान का लाभ तक नहीं दिया जा रहा है। अब धनतेरस के दिन कार्यबहिष्कार के ऐलान से रोडवेज प्रबंधन के हाथ-पांव फूले हुए हैं। 

ये भी पढ़ें - सरकारी नौकरी के दौरान मौत होने पर बेटा और तलाकशुदा पुत्री कर सकेगी नौकरी के लिए आवेदन - रावत कैबिनेट


वेतन और अन्य भत्तों की मांग

आपको बता दें कि रोडवेज यूनियन के महामंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि रोडवेज यूनियन और सरकार के साथ एक समझौता किया गया था लेकिन उसका उल्लंघन किया जा रहा है। यूनियन ने मांग की है कि सभी समझौतों का पालन किया जाए। इसके साथ ही नियमित, विशेष श्रेणी समेत संविदा और कार्यशाला कर्मियों को बोनस भुगतान किया जाए। रोडवेज कर्मचारियों का चार सालों से जो भत्ता और वेतन कटौती का बकाया है उसे जारी किया जाए। 

 

Todays Beets: