Friday, June 22, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

दिवाली में बढ़ सकती हैं प्रदेशवासियों की परेशानियां, रोडवेज यूनियन ने किया 17 अक्टूबर को कार्यबहिष्कार का ऐलान 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दिवाली में बढ़ सकती हैं प्रदेशवासियों की परेशानियां, रोडवेज यूनियन ने किया 17 अक्टूबर को कार्यबहिष्कार का ऐलान 

देहरादून। दिवाली के मौके पर उत्तराखंड में लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। उत्तराखंड रोडवेज ने समय पर वेतन न मिलने और उनकी अन्य मांगों के पूरा न होने की स्थिति में17 अक्टूबर को एक दिन के कार्यबहिष्कार का ऐलान कर दिया है। उसके बाद 24 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है। ऐसे में रोडवेज प्रबंधन के सामने धनतेरस के मौके पर लोगों को संसाधन कैसे मुहैया कराए जाएं यह समस्या पैदा हो गयी है।

हड़ताल की चेतावनी

गौरतलब है कि प्रदेश में रोडवेज का पहिया थम जाने से लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। रोडवेज यूनियन का कहना है कि सरकार के पास रोडवेज के करोड़ों रुपये का बकाया है। इसकी भरपाई करने के लिए सरकार ने किराया बढ़ाने का ऐलान कर दिया। किराया बढ़ाने के बाद भी कर्मचारियों को समय से वेतन नहीं मिल पा रहा है। सातवें वेतनमान का लाभ तक नहीं दिया जा रहा है। अब धनतेरस के दिन कार्यबहिष्कार के ऐलान से रोडवेज प्रबंधन के हाथ-पांव फूले हुए हैं। 

ये भी पढ़ें - सरकारी नौकरी के दौरान मौत होने पर बेटा और तलाकशुदा पुत्री कर सकेगी नौकरी के लिए आवेदन - रावत कैबिनेट


वेतन और अन्य भत्तों की मांग

आपको बता दें कि रोडवेज यूनियन के महामंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि रोडवेज यूनियन और सरकार के साथ एक समझौता किया गया था लेकिन उसका उल्लंघन किया जा रहा है। यूनियन ने मांग की है कि सभी समझौतों का पालन किया जाए। इसके साथ ही नियमित, विशेष श्रेणी समेत संविदा और कार्यशाला कर्मियों को बोनस भुगतान किया जाए। रोडवेज कर्मचारियों का चार सालों से जो भत्ता और वेतन कटौती का बकाया है उसे जारी किया जाए। 

 

Todays Beets: