Friday, November 16, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

राममंदिर निर्माण पर साधुओं का सरकार पर दवाब की कोशिश, राज्यपाल से मिलकर राष्ट्रपति को दिया ज्ञापन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राममंदिर निर्माण पर साधुओं का सरकार पर दवाब की कोशिश, राज्यपाल से मिलकर राष्ट्रपति को दिया ज्ञापन

देहरादून। अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर उत्तराखंड के साधु-संत भी अपनी कमर कस चुके हैं। बड़ी संख्या में साधुओं का एक दल राज्यपाल बेबी रानी मौर्य से मिलकर देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को ज्ञापन देकर कानून बनाने की मांग की है। विश्व हिंदू परिषद की अगुवाई में राज्यपाल से मिले साधुओं का कहना है कि न्यायालय में काफी समय से यह मामला लंबित है लेकिन इसका कोई हल नहीं निकल रहा है। हिंदू समाज भी मंदिर निर्माण का इंतजार बेसब्री से कर रहा है। ऐसे में संसद में अध्यादेश लाकर मंदिर निर्माण शुरू कराया जाए।

गौरतलब है कि देश के प्रमुख संतों में से एक और भारत माता मंदिर के संस्थापक स्वामी सत्यमित्रानंद ने कहा कि अगर मंदिर निर्माण का काम जल्द शुरू नहीं किया गया तो वे 6 दिसंबर से हरकी पैड़ी पर आमरण अनशन करेंगे। उन्होंने कहा कि गंगा की अविरलता बना रखने के लिए अनशन करने वाले स्वामी सानंद की तरह उनकी भी जान चली जाए तो उन्हें परवाह नहीं है। 

ये भी पढ़ें - नोटबंदी को लेकर कांग्रेस का सरकार पर हमला, कल पूरे देश में करेगी विरोध प्रदर्शन 


यहां बता दें कि उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मंदिर निर्माण की पैरवी कर चुके हैं। दिवाली के मौके पर अयोध्या पहुंचे सीएम योगी ने साधु-संतों से मिलने के बाद कहा कि यहां मंदिर था, है और रहेगा। उन्होंने साधुओं को भरोसा दिलाते हुए कहा कि अयोध्या में जल्द ही भगवान राम का भव्य मंदिर का निर्माण कराया जाएगा। ऐसे में उत्तराखंड के साधुओं ने भी केन्द्र सरकार पर दवाब बनाने की कवायद तेज कर दी है। साधुओं का कहना है कि न्यायालय से इसका कोई समाधान नहीं निकला है ऐसे में अब कानून बनाकर मंदिर निर्माण कराना ही एक मात्र रास्ता बचा है।  

 

Todays Beets: