Friday, June 22, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

इसी महीने शुरू होगी ‘सौभाग्य’ योजना, हर घर तक पहुंचेगी बिजली की रोशनी 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
इसी महीने शुरू होगी ‘सौभाग्य’ योजना, हर घर तक पहुंचेगी बिजली की रोशनी 

देहरादून। केन्द्र की योजनाओं को लागू करने में उत्तराखंड सबसे आगे रहा है। अब प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य) इसी महीने से शुरू कर दी जाएगी। सरकार की तरफ से इसकी पूरी तैयारी कर ली है हालांकि अभी तारीख का ऐलान नहीं किया गया है। ऊर्जा राज्य मंत्री आरके सिंह प्रदेश में इस योजना की शुरुआत करेंगे। इस योजना के तहत गरीबों के घरों में मुफ्त बिजली के कनेक्शन दिए जाएंगे और घरों में वायरिंग भी बिजली विभाग ही करेगा। 

यूपीसीएल ने निकाले आंकडे़

गौरतलब है कि केन्द्र सरकार का लक्ष्य 31 मार्च 2019 तक देश के हर घर तक बिजली की रोशनी पहुंचाना है। फिलहाल उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में यह योजना शुरू हो चुकी है। उत्तराखंड पावर कारपोरेशन लिमिटेड (यूपीसीएल) पिछले डेढ़ महीने से विस्तृत कार्ययोजना बनाने में जुटा है। यूपीसीएल ने 2001 और 2011 के जनगणना के आंकड़ों का अध्ययन किया। इसके हिसाब से जनसंख्या वृद्धि का आंकड़ा निकाला गया, जो कि करीब 15 फीसद आया। 


ये भी पढ़ें - जनसुनवाई में अनुपस्थित अधिकारियों पर कार्रवाई, एक दिन का वेतन काटने के निर्देश

बचे हुए घरों को मिलेगा कनेक्शन

यहां बता दें कि मौजूदा वक्त में घरेलू बिजली कनेक्शनों की संख्या 18.43 लाख है। जनसंख्या की वृद्धि प्रतिशत के हिसाब से फिलहाल 5 लाख घरों में कनेक्शन नहीं होने का अनुमानित आंकड़ा निकला है। बता दें कि राज्य के 1 लाख घरों को दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत कवर किया गया है।  बाकी के बचे घरों में सौभाग्य योजना के तहत कनेक्शन दिया जाएगा। यूपीसीएल की तरफ से इस बात पर भी विचार किया जा रहा है कि नए कनेक्शन देने के बाद कितना लोड बढ़ेगा और इसके लिए कितने ट्रांसफार्मरों की जरूरत पड़ेगी। 

Todays Beets: