Friday, December 14, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

भारत बंद के मद्देनजर देहरादून में धारा 144 लागू, चंपावत में भी पुलिस तैनात

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारत बंद के मद्देनजर देहरादून में धारा 144 लागू, चंपावत में भी पुलिस तैनात

देहरादून। सोशल मीडिया के जरिए अलग-अलग संगठनों द्वारा आरक्षण के विरोध में बुलाए गए भारत बंद को लेकर उत्तराखंड में भी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। देहरादून में धारा 144 लागू कर दी गई है। इसके बाद एक जगह पर 5 से ज्यादा लोग एक साथ जमा नहीं हो सकेंगे। जिलाधिकारी एसए मुरुगेशन ने जिला में शांति व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए यह आदेश जारी किए हैं। बता दें कि चंपावत में सोशल मीडिया में खबरें फैलाने के आरोप में वन विभाग के रेंजर को नोटिस जारी किया गया था।

ये भी पढ़ें - पूर्णागिरी मंदिर में दर्शन के लिए जा रहे श्रद्धालुओं की ट्राॅली पलटी, 20 से ज्यादा घायल

गौरतलब है कि जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में किसी तरह का उपद्रव या हिंसा न हो इसके लिए धारा 144 लागू करने के आदेश दिए हैं। इससे आम गतिविधियों पर किसी प्रकार का असर नहीं पड़ेगा। बता दें कि इस बंद के दौरान स्कूलों और काॅलेजों को बंद नहीं किया गया है। यहां गौर करने वाली बात है कि इससे पहले चंपावत जिले में सोशल मीडिया पर बंद की खबर फैलाने के आरोप में वन विभाग के रेंजर समेत कई लोगों को नोटिस जारी किया गया था। साथ ही यह चेतावनी भी दी गई थी कि अगर दोबारा ऐसा करते हुए पकड़े जाते हैं तो उन्हें गिरफ्तार भी किया जा सकता है। 


आपको बता दें कि गढ़वाल में देवाल, गोपेश्वर, जोशीमठ, पीपलकोटी, पोखरी, घाट में बंद का कोई असर नहीं दिखाई दिया। घनसाली में जुलूस निकाल कर सांकेतिक रूप से बाजार बंद कर आरक्षण का विरोध जताया गया। श्रीनगर और पौड़ी में बाजार रोज की तरह खुला है। कुमाऊं में भवाली में बंद का असर नहीं दिखाई दिया। बंद के मद्देनजर चंपावत में पहले से ही पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

 

Todays Beets: