Monday, July 23, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

भारत बंद के मद्देनजर देहरादून में धारा 144 लागू, चंपावत में भी पुलिस तैनात

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारत बंद के मद्देनजर देहरादून में धारा 144 लागू, चंपावत में भी पुलिस तैनात

देहरादून। सोशल मीडिया के जरिए अलग-अलग संगठनों द्वारा आरक्षण के विरोध में बुलाए गए भारत बंद को लेकर उत्तराखंड में भी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। देहरादून में धारा 144 लागू कर दी गई है। इसके बाद एक जगह पर 5 से ज्यादा लोग एक साथ जमा नहीं हो सकेंगे। जिलाधिकारी एसए मुरुगेशन ने जिला में शांति व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए यह आदेश जारी किए हैं। बता दें कि चंपावत में सोशल मीडिया में खबरें फैलाने के आरोप में वन विभाग के रेंजर को नोटिस जारी किया गया था।

ये भी पढ़ें - पूर्णागिरी मंदिर में दर्शन के लिए जा रहे श्रद्धालुओं की ट्राॅली पलटी, 20 से ज्यादा घायल

गौरतलब है कि जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में किसी तरह का उपद्रव या हिंसा न हो इसके लिए धारा 144 लागू करने के आदेश दिए हैं। इससे आम गतिविधियों पर किसी प्रकार का असर नहीं पड़ेगा। बता दें कि इस बंद के दौरान स्कूलों और काॅलेजों को बंद नहीं किया गया है। यहां गौर करने वाली बात है कि इससे पहले चंपावत जिले में सोशल मीडिया पर बंद की खबर फैलाने के आरोप में वन विभाग के रेंजर समेत कई लोगों को नोटिस जारी किया गया था। साथ ही यह चेतावनी भी दी गई थी कि अगर दोबारा ऐसा करते हुए पकड़े जाते हैं तो उन्हें गिरफ्तार भी किया जा सकता है। 


आपको बता दें कि गढ़वाल में देवाल, गोपेश्वर, जोशीमठ, पीपलकोटी, पोखरी, घाट में बंद का कोई असर नहीं दिखाई दिया। घनसाली में जुलूस निकाल कर सांकेतिक रूप से बाजार बंद कर आरक्षण का विरोध जताया गया। श्रीनगर और पौड़ी में बाजार रोज की तरह खुला है। कुमाऊं में भवाली में बंद का असर नहीं दिखाई दिया। बंद के मद्देनजर चंपावत में पहले से ही पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

 

Todays Beets: