Friday, March 22, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

भारत बंद के मद्देनजर देहरादून में धारा 144 लागू, चंपावत में भी पुलिस तैनात

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारत बंद के मद्देनजर देहरादून में धारा 144 लागू, चंपावत में भी पुलिस तैनात

देहरादून। सोशल मीडिया के जरिए अलग-अलग संगठनों द्वारा आरक्षण के विरोध में बुलाए गए भारत बंद को लेकर उत्तराखंड में भी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। देहरादून में धारा 144 लागू कर दी गई है। इसके बाद एक जगह पर 5 से ज्यादा लोग एक साथ जमा नहीं हो सकेंगे। जिलाधिकारी एसए मुरुगेशन ने जिला में शांति व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए यह आदेश जारी किए हैं। बता दें कि चंपावत में सोशल मीडिया में खबरें फैलाने के आरोप में वन विभाग के रेंजर को नोटिस जारी किया गया था।

ये भी पढ़ें - पूर्णागिरी मंदिर में दर्शन के लिए जा रहे श्रद्धालुओं की ट्राॅली पलटी, 20 से ज्यादा घायल

गौरतलब है कि जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में किसी तरह का उपद्रव या हिंसा न हो इसके लिए धारा 144 लागू करने के आदेश दिए हैं। इससे आम गतिविधियों पर किसी प्रकार का असर नहीं पड़ेगा। बता दें कि इस बंद के दौरान स्कूलों और काॅलेजों को बंद नहीं किया गया है। यहां गौर करने वाली बात है कि इससे पहले चंपावत जिले में सोशल मीडिया पर बंद की खबर फैलाने के आरोप में वन विभाग के रेंजर समेत कई लोगों को नोटिस जारी किया गया था। साथ ही यह चेतावनी भी दी गई थी कि अगर दोबारा ऐसा करते हुए पकड़े जाते हैं तो उन्हें गिरफ्तार भी किया जा सकता है। 


आपको बता दें कि गढ़वाल में देवाल, गोपेश्वर, जोशीमठ, पीपलकोटी, पोखरी, घाट में बंद का कोई असर नहीं दिखाई दिया। घनसाली में जुलूस निकाल कर सांकेतिक रूप से बाजार बंद कर आरक्षण का विरोध जताया गया। श्रीनगर और पौड़ी में बाजार रोज की तरह खुला है। कुमाऊं में भवाली में बंद का असर नहीं दिखाई दिया। बंद के मद्देनजर चंपावत में पहले से ही पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

 

Todays Beets: