Friday, July 20, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

एसआईटी की जांच में चार शिक्षकों के प्रमाण पत्र फर्जी मिले, अब होगी विभागीय कार्रवाई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
एसआईटी की जांच में चार शिक्षकों के प्रमाण पत्र फर्जी मिले, अब होगी विभागीय कार्रवाई

देहरादून। फर्जी प्रमाण पत्रों की जांच में एसआईटी को सफलता मिली है। जांच में दून के हर्रावाला स्थित अशासकीय सहायता प्राप्त सावित्री शिक्षा निकेतन जूनियर हाई स्कूल के चार शिक्षकों के प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए हैं। एसआईटी ने इनके खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश करते हुए बेसिक शिक्षा निदेशक को रिपोर्ट भेज दी है।

विभागीय कार्रवाई

गौरतलब है कि एसआईटी को इस स्कूल में कार्यरत शिक्षकों के प्रमाणपत्र फर्जी होने की शिकायत मिली थी। जांच में पता चला कि चार शिक्षकों ने हिन्दी साहित्य सम्मेलन इलाहाबाद, हिन्दी साहित्य सम्मेलन प्रयाग और भारतीय शिक्षा परिषद लखनऊ से प्राप्त प्रमाण पत्रों के आधार पर नौकरी पाई थी जबकि शिक्षा विभाग में इन संस्थानों के प्रमाणपत्र मान्य ही नहीं हैं। एसआईटी प्रभारी श्वेता  चौबे ने इन सभी शिक्षकों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की रिपोर्ट भेज दी गई है।

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड में करीब 3 हजार स्कूल होंगे बंद, शिक्षकों का भी होगा विलयन

इनके प्रमाण पत्र फर्जी


सहायक अध्यापक अजय सिंह, नीलम पांडे,कौशलेंद्र और सुनीता सिंह

 

 

Todays Beets: