Tuesday, February 20, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

ढैंचा बीज घोटाले की जांच में आएगी तेजी, पूर्व एमडी समेत 9 अधिकारियों को किया गया नोटिस जारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ढैंचा बीज घोटाले की जांच में आएगी तेजी, पूर्व एमडी समेत 9 अधिकारियों को किया गया नोटिस जारी

रुद्रपुर। तराई एवं बीज विकास निगम में हुए करोड़ों के घोटाले की जांच में अब और तेजी आएगी। मामले की जांच कर रही एसआईटी ने निगम के पूर्व एमडी समेत 9 अधिकारी और कर्मचारी को नोटिस जारी किया है। इसके तहत अब इन अधिकारियों और कर्मचारियों को 15 अक्टूबर तक अपने बयान दर्ज कराने होंगे। बता दें कि विभागीय जांच में निगम में 16 करोड़ रुपये का घोटाला सामने आया था। 

कई कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा

गौरतलब है कि 2015-16 में तराई एवं बीज विकास निगम में बीजों की बिक्री में करोड़ों का घपला किया गया था। विभागीय जांच में घोटाले की पुष्टि होने पर 7 जुलाई 2017 को उप मुख्य कार्मिक अधिकारी सीके सिंह ने पंतनगर थाने में एक मृतक समेत 10 अधिकारी और कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। विभागीय जांच के बाद शासन ने एएसपी देवेंद्र पिंचा के नेतृत्व में एसआईटी गठित कर जांच सौंप दी थी। 

ये भी पढ़ें - हाईकोर्ट ने प्रधानाध्यापक के पदों पर पदोन्नती मामले में दिया अहम फैसला, किया आरक्षण का कोटा तय

जांच में आएगी तेजी


आपको बता दें कि घोटाले की जांच कर रही एसआईटी ने मामले में नामजद टीडीसी के पूर्व एमडी पीएस बिष्ट समेत आरके निगम, जीसी तिवारी, शिव मंगल त्रिपाठी, बीडी तिवारी, अजीत सिंह, एके लोहानी, दीपक पांडे, पीके चौहान को नोटिस भेजा है। ऐसा माना जा रहा है कि नामजदों को नोटिस भेजने के बाद अब टीडीसी बीज घोटाले की जांच में तेजी आएगी। 

आज से होगी पूछताछ

टीडीसी गेहूं बीज घोटाले में नोटिस देने के बाद एसआइटी बुधवार से पूछताछ शुरू करेगी। एसआइटी अधिकारियों के मुताबिक 15 अक्टूबर तक पूछताछ और बयान दर्ज करने की कार्रवाई पूरी करनी है। ऐसे में बुधवार से मामले में नामजद दो-दो अधिकारी और कर्मचारियों को हर दिन एक साथ बुलाकर पूछताछ की जाएगी। घोटाले की जांच कर रही एसआईटी को निगम के मूल दस्तावेज नहीं मिले थे इस वजह से एमडी को पत्र लिखकर उनसे सभी दस्तावेज उपलब्ध कराने को कहा गया है।

Todays Beets: