Wednesday, September 26, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

ढैंचा बीज घोटाले की जांच में आएगी तेजी, पूर्व एमडी समेत 9 अधिकारियों को किया गया नोटिस जारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ढैंचा बीज घोटाले की जांच में आएगी तेजी, पूर्व एमडी समेत 9 अधिकारियों को किया गया नोटिस जारी

रुद्रपुर। तराई एवं बीज विकास निगम में हुए करोड़ों के घोटाले की जांच में अब और तेजी आएगी। मामले की जांच कर रही एसआईटी ने निगम के पूर्व एमडी समेत 9 अधिकारी और कर्मचारी को नोटिस जारी किया है। इसके तहत अब इन अधिकारियों और कर्मचारियों को 15 अक्टूबर तक अपने बयान दर्ज कराने होंगे। बता दें कि विभागीय जांच में निगम में 16 करोड़ रुपये का घोटाला सामने आया था। 

कई कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा

गौरतलब है कि 2015-16 में तराई एवं बीज विकास निगम में बीजों की बिक्री में करोड़ों का घपला किया गया था। विभागीय जांच में घोटाले की पुष्टि होने पर 7 जुलाई 2017 को उप मुख्य कार्मिक अधिकारी सीके सिंह ने पंतनगर थाने में एक मृतक समेत 10 अधिकारी और कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। विभागीय जांच के बाद शासन ने एएसपी देवेंद्र पिंचा के नेतृत्व में एसआईटी गठित कर जांच सौंप दी थी। 

ये भी पढ़ें - हाईकोर्ट ने प्रधानाध्यापक के पदों पर पदोन्नती मामले में दिया अहम फैसला, किया आरक्षण का कोटा तय

जांच में आएगी तेजी


आपको बता दें कि घोटाले की जांच कर रही एसआईटी ने मामले में नामजद टीडीसी के पूर्व एमडी पीएस बिष्ट समेत आरके निगम, जीसी तिवारी, शिव मंगल त्रिपाठी, बीडी तिवारी, अजीत सिंह, एके लोहानी, दीपक पांडे, पीके चौहान को नोटिस भेजा है। ऐसा माना जा रहा है कि नामजदों को नोटिस भेजने के बाद अब टीडीसी बीज घोटाले की जांच में तेजी आएगी। 

आज से होगी पूछताछ

टीडीसी गेहूं बीज घोटाले में नोटिस देने के बाद एसआइटी बुधवार से पूछताछ शुरू करेगी। एसआइटी अधिकारियों के मुताबिक 15 अक्टूबर तक पूछताछ और बयान दर्ज करने की कार्रवाई पूरी करनी है। ऐसे में बुधवार से मामले में नामजद दो-दो अधिकारी और कर्मचारियों को हर दिन एक साथ बुलाकर पूछताछ की जाएगी। घोटाले की जांच कर रही एसआईटी को निगम के मूल दस्तावेज नहीं मिले थे इस वजह से एमडी को पत्र लिखकर उनसे सभी दस्तावेज उपलब्ध कराने को कहा गया है।

Todays Beets: