Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

पंचायतों को आवंटित धनराशि की ‘बंदरबांट’ की एसआईटी करेगी जांच, दोषियों पर होगी कार्रवाई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पंचायतों को आवंटित धनराशि की ‘बंदरबांट’ की एसआईटी करेगी जांच, दोषियों पर होगी कार्रवाई

देहरादून। राज्य के पंचायतों में हुई वित्तीय अनियमितताओं पर पंचायती राज मंत्री अरविंद पांडे ने गहरी नाराजगी जताते हुए कहा कि इसी एसआईटी से जांच कराने की बात कही थी। पंचायती राज व्यवस्था की समीक्षा बैठक में मंत्री ने ये बातें कहीं हैं। अरविंद पांडे ने प्रमुख सचिव पंचायतराज से 14वें वित्त आयोग में वर्ष 2015-16 से अब तक आवंटित धनराशि कि जो धनराशि आवंटित की गई राशि के खर्च की एस.आई.टी. जांच कराने के निर्देश दिए हैं। 

गौरतलब है कि पंचायती राज मंत्री अरविंद पांडे ने प्रमुख सचिव एवं निदेशक पंचायतीराज को समय-समय पर योजनाओं में संचालित कार्यों के निरंतर मूल्यांकन एवं अनुश्रवण के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि एसआईटी की जांच में दोषी पाए जाने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। मंत्री ने कहा कि पंचायत की आवंटित की गई धनराशि आम जनता का है और इसके भुगतान में अनियमितता/डुप्लीकेसी नहीं होनी चाहिए। 

ये भी पढ़ें - प्रदेश के लोगों को अब नहीं सताएगी सेहत की चिंता, लागू होगी उत्तराखंड आयुष्मान योजना


यहां बता दें कि मंत्री ने सभी अपर मुख्य अधिकारियों को 15 दिनों के बाद हओने वाली समीक्षा बैठक में पूरी कार्ययोजना के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिए हैं और वित्त आयोग से प्राप्त धन से खरीदी गई सामग्री की दर आदि का विवरण, अगली समीक्षा बैठक में साथ लाने के निर्देश दिए हैं।

 

Todays Beets: