Monday, July 23, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

एसआईटी करेगी प्रदेश में हुए छात्रवृत्ति घोटाले की जांच, सरकार ने दिए आदेश 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
एसआईटी करेगी प्रदेश में हुए छात्रवृत्ति घोटाले की जांच, सरकार ने दिए आदेश 

देहरादून। राज्य में हुए बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाले की जांच अब एसआईटी करेगी। प्रदेश सरकार ने समाज कल्याण विभाग में हुए इस घोटाले के लिए पुलिस के नेतृत्व में चार सदस्यीय एसआईटी गठित करने को कहा है। इस टीम में पुलिस के साथ ही तकनीकी शिक्षा, उच्च शिक्षा व समाज कल्याण विभाग के अधिकारी भी शामिल किए जाएंगे। बता दें कि छात्रवृत्ति घोटाले की रकम 100 करोड़ तक पहुंचने की आशंका है। 

ये भी पढ़ें - नौजवानों के लिए अच्छी खबर, जल्द शुरू होगी होम गार्डस जवानों की भर्ती

गौरतलब है कि राज्य में शैक्षिक सत्र 2012-13 से लेकर 2014-15 के बीच सहारनपुर के कई निजी कॉलेजों ने हरिद्वार, दून के छात्रों का आईटीआई, पॉलिटेक्निक एवं बीटेक में दाखिला दिखाकर इन कॉलेजों ने छात्रवृत्ति हड़प ली। इसके बाद तत्कालीन अपर सचिव वी.षणमुगम की जांच में तमाम फर्जी दाखिले होने की पुष्टि हुई। जांच में घोटाले की रकम 100 करोड़ तक पहुंचने की आशंका के बाद विभाग ने शासन को एसआईटी जांच के लिए लिखा था। 


विभाग के अनुरोध के बाद अब सरकार ने छात्रवृत्ति घोटाले की जांच एसआईटी से कराने का फैसला लिया है। अपर सचिव, अजय रौतेला ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री कार्यालय से एसआईटी जांच के आदेश मिल गए हैं। पुलिस के नेतृत्व में होने वाली इस जांच में 3 अन्य विभाग भी शामिल किए गए हैं। अब संबंधित विभागों को जांच दल में शामिल किए जाने के लिए अधिकारियों के नाम मांगे गए हैं।  

Todays Beets: