Tuesday, December 18, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

केदारनाथ धाम में फैली ‘सफेद चादर’, बदले मौसम से मैदानी इलाकों में बढ़ी ठंड

अंग्वाल न्यूज डेस्क
केदारनाथ धाम में फैली ‘सफेद चादर’, बदले मौसम से मैदानी इलाकों में बढ़ी ठंड

देहरादून। उत्तराखंड में मौसम ने एक बार फिर से मौसम ने करवट बदल लिया है। देर शाम ही केदारनाथ धाम के ऊपरी इलाकों में बर्फबारी शुरू हो गई है। बर्फबारी शुरू होने से मैदानी इलाकों में गर्मी से परेशान लोगों को ठंड का एहसास होने लगा है। खबरों के अनुसार केदारनाथ धाम में मेरू-सुमेरू पर्वत श्रृंखलाओं के साथ ही दुग्ध गंगा की ऊपरी पहाड़ियों पर भारी हिमपात हुआ है। यहां बता दें कि मौसम विभाग ने पहले ही 22 से 25 सितंबर के बीच राज्य में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर चुका है। 

गौरतलब है कि देर शाम से ऊपरी इलाकों में हो रही भारी बर्फबारी ने लोगों की मुश्किलों में एक बार फिर से इजाफा कर दिया है। पहाड़ों पर बर्फबारी होने से केदारनाथ धाम के आसपास कोहरा छा गया है। केदारनाथ पुलिस चैकी प्रभारी बिपिन चंद्र पाठक ने बताया कि केदारनाथ के ऊपरी क्षेत्रों में सीजन का पहला तेज हिमपात हुआ है। 

ये भी पढ़ें - अब शिक्षक नहीं करेंगे गैर शैक्षिक कार्य, शिक्षा सचिव ने जिलाधिकारियों को दिए निर्देश 


यहां बता दें कि दुग्धताल के अलावा वासुकीताल में भी देर रात से भारी बर्फबारी का सिलसिला जारी है। पर्वतीय इलाकों मंे मौसम के बदलते ही मैदानी इलाकों में भी ठंड बढ़ गई है। केदारनाथ के अलावा चमोली और हेमकुंड साहिब में भी देर शाम से ही बर्फबारी हो रही है। 

आपको बता दें कि मौसम विभाग ने पहले ही 22 से 25 सितंबर तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। विभाग ने 23 और 24 सितंबर को भारी से भारी बारिश की संभावना जताई है। बारिश की चेतावनी को देखते हुए सभी अधिकारियों को 24 घंटे सतर्क रहने और अपना मोबाइल खुला रखने के निर्देश दिए गए हैं।

Todays Beets: