Thursday, January 17, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

गंगोलीहाट के गोपाल सिंह ने सेवानिवृत्ति से पहले दी शहादत, मंत्री ने परिजनों को बंधाया ढाढ़स

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गंगोलीहाट के गोपाल सिंह ने सेवानिवृत्ति से पहले दी शहादत, मंत्री ने परिजनों को बंधाया ढाढ़स

देहरादून। नए साल में देश की सीमा की रक्षा करते हुए उत्तराखंड के एक और लाल ने अपनी शहादत दी है। पिथौरागढ़ के उदयनगर गांव के रहने वाले गोपाल सिंह मेहरा नागालैंड में बुधवार की सुबह आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हो गए। उनका पार्थिव शरीर गुरुवार शाम तक पिथौरागढ़ पहुंचने की संभावना है। गोपाल सिंह मेहरा 24 असम राइफल्स में हवलदार के पद तैनात थे। शहादत की खबर मिलते ही उनके घर पर सांत्वना और श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगना शुरू हो गया है। 

गौरतलब है कि गोपाल सिंह मेहरा मूल रूप से पिथौरागढ़ के गंगोलीहाट के रहने वाले हैं लेकिन 5 साल पहले उनका परिवार उदयनगर गांव में आकर रहने लगा। वर्तमान में वे नागालैंड में तैनात थे। बुधवार तड़के 4 बजे लोबरा के पास आतंकियों से हुई मुठभेड़ में गोली लगने से गोपाल सिंह शहीद हो गए। गोपाल सिंह के बड़े भाई निर्मल सिंह भी असम राइफल्स (नगालैंड) में ही तैनात हैं। निर्मल सिंह ने ही घरवालों को उनकी शहादत की खबर दी। 

ये भी पढ़ें - नए साल में पेंशनधारकों की हो जाएगी बल्ले-बल्ले, सरकार ने लिया बड़ा फैसला


यहां बता दें कि गोपाल सिंह के परिवार में उनकी पत्नी के अलावा एक 17 वर्षीय पुत्र सौरभ और 14 वर्षीय पुत्री हिमानी हैं। सौरभ दिनेशपुर में पॉलिटेक्निक काॅलेज का छात्र है जबकि हिमानी सरस्वती शिशु मंदिर कालीनगर में कक्षा 9 में पढ़ती है। परिवार वालों से मिली जानकारी के अनुसार गोपाल सिंह एक साल के बाद ही सेवानिवृत्त होने वाले थे। सूचना मिलने पर शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने भी शहीद के घर जाकर शोक संवेदना जताई और परिजनों को ढाढ़स बंधाया है। 

 

Todays Beets: