Monday, August 20, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

पूर्व मुख्यमंत्री को काला झंडा दिखाना पड़ा महंगा, भाजपा के युवा मोर्चा के उपाध्यक्ष भेजे गए जेल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पूर्व मुख्यमंत्री को काला झंडा दिखाना पड़ा महंगा, भाजपा के युवा मोर्चा के उपाध्यक्ष भेजे गए जेल

देहरादून। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को काले झंडे दिखाने और पुलिसकर्मियों से हाथापाई के मामले में कालाढूंगी से भाजपा विधायक बंशीधर भगत के बेटे विकास भगत और उनके साथी गौरव जोशी ने एसीजेएम मुकेश चंद्र आर्या की अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका खारिज करते हुए न्यायिक हिरासत में लेते हुए जेल भेज दिया है। बता दें कि विकास भगत भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के उपाध्यक्ष भी हैं। 

गौरतलब है कि 18 दिसंबर 2016 को जब तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत गौलापार में स्टेडियम का उद्घाटन करने आए थे उस समय विकास भगत ने अपने साथियों के साथ मिलकर उन्हें काले झंडे दिखाए थे। पुलिस द्वारा ऐसा करने से रोकने पर उन्होंने पुलिस के साथ हाथापाई भी की। इसके बाद काठगोदाम पुलिस ने विकास और उसके दोस्त के खिलाफ धारा 147 और 353 के तहत मुकदमा दर्ज किया था।

ये भी पढ़ें - आखिरकार शिक्षकों पर मेहरबान हुए शिक्षा मंत्री, मांगों पर कार्रवाई के दिए निर्देश


यहां बता दें कि धारा 353 गैर जमानती है ऐसेे में अदालत में उपस्थित नहीं होने पर गैरजमानती वारंट जारी हो गया। बुधवार को दोनों अदालत में पेश हुए, हालांकि कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका को खारिज करते हुए उन्हें जेल भेज दिया। बेटे की सजा के मामले में विधायक बंशीधर भगत का कहना है कि विकास की गिरफ्तारी राजनीतिक कारणों से हुई है। गुरुवार को जिला जज की अदालत में जमानत की अर्जी लगाई जाएगी। 

Todays Beets: