Friday, June 22, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

आज से तीन दिनों तक सरकारी कामकाज रहेंगे ठप, राज्य कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार का ऐलान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आज से तीन दिनों तक सरकारी कामकाज रहेंगे ठप, राज्य कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार का ऐलान

देहरादून। उत्तराखंड में सरकारी कामकाज कराने वाले लोगों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के बैनर तले सोमवार से प्रदेश भर में राज्य कर्मचारी तीन दिन के लिए कार्य बहिष्कार पर रहेंगे। परिषद की बैठक में सभी पदाधिकारियों को कार्यबहिष्कार को सफल बनाने के निर्देश दिए गए। परिषद की बैठक में अध्यक्ष ठाकुर प्रह्लाद सिंह ने कहा कि सरकार को कर्मचारियों की मांगों को पूरा  करने का पूरा समय दिया गया लेकिन वेतन विसंगति दूर किए जाने, एसीपी की पूर्व व्यवस्था लागू किए जाने के मामले में कोई कार्रवाई नहीं की गई। इसी बात को लेकर आज से कर्मचारी पूरे प्रदेश में तीन दिनों तक कार्य बहिष्कार करने का ऐलान किया है।

सरकारी काम ठप

गौरतलब है कि राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रवक्ता अरुण पांडे ने कहा कि 15 सितंबर को मुख्य सचिव से वार्ता के बाद भी अभी तक कार्यवृत जारी नहीं हो पाया है। जिलाध्यक्ष ओमवीर सिंह ने कहा कि 9,10 और 11 अक्तूबर को कार्य बहिष्कार किया जाएगा। 11 अक्तूबर को कार्य बहिष्कार के साथ ही मशाल जुलूस भी निकाला जाएगा।

ये भी पढ़ें - विभागीय चूक से करीब 13 हजार शिक्षकों के सामने नौकरी का संकट, सरकार ने की राहत देने की मांग 


इनसे संबंधित कामों पर पड़ेगा असर

एएनएम की ओर से किए जाने वाले टीकाकरण, पॉलिटेक्निक, आईटीआई अनुदेशक के कारण शिक्षण कार्य, वाणिज्य कर, आरटीओ प्रवर्तन दल, आबकारी निरीक्षक, पंचायतों से प्रमाण पत्र, आंगनबाड़ी, राजस्व संग्रह अमीन, ग्राम पंचायत अधिकारी और ग्राम विकास अधिकारी भी कार्य बहिष्कार करेंगे। 

Todays Beets: