Friday, December 14, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

उत्तरकाशी के 3 मकानों में लगी आग, कई परिवार हुए बेघर, मौके पर पहुंचा प्रशासनिक अमला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तरकाशी के 3 मकानों में लगी आग, कई परिवार हुए बेघर, मौके पर पहुंचा प्रशासनिक अमला

उत्तरकाशी। जंगल की आग से परेशान उत्तरकाशी के लोगों की परेशानियां शुक्रवार को और भी बढ़ गई हैं। जिले के पुरोला ब्लाॅक के 3 मकानों में अचानक से आग लग गई और देखते ही देखते सभी मकान जलकर खाक हो गए। हालांकि अभी आग लगने की वजहों का पता नहीं चला है लेकिन मौके पर उत्तरकाशी जिले के एसडीएम और पुलिस अधीक्षक पहुंचकर स्थिति का जायजा ले रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने मामले की जांच के आदेश भी दिए हैं। बता दें कि इन मकानों के आसपास रहने वाले बाकी के मकानों से लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। फिलहाल कई परिवार बेघर हो गए हैं। 

गौरतलब है कि उत्तराखंड के ज्यादातर जिलों में पिछले 10 दिनों से आग लगी हुई है और यह फैलते हुए रिहाइशी इलाकों को भी अपनी चपेट में लेती जा रही है। हालांकि उत्तरकाशी के पुरोला ब्लाॅक के मकानों में लगी आग का जंगल की आग से कोई लेना-देना नहीं है। अब आग लगने की सही जानकारी मामले की जांच के बाद ही पता चल पाएगा। 

ये भी पढ़ें - मुश्किलों में फंस सकते हैं शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने वाले शिक्षक नेता, हो सक...


आपको बता दें कि जंगलों में लगी आग को बुझाने में वन विभाग के साथ दूसरा सरकारी अमला भी लगा हुआ है। सरकार की तरफ से इस पर काबू पाने के लिए हैलीकाॅप्टर से पानी गिराने का भी विचार किया जा रहा है और इसके लिए हेली कंपनियों के साथ टाईअप भी कर लिया गया है।  

Todays Beets: