Friday, March 22, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

उत्तरकाशी के 3 मकानों में लगी आग, कई परिवार हुए बेघर, मौके पर पहुंचा प्रशासनिक अमला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तरकाशी के 3 मकानों में लगी आग, कई परिवार हुए बेघर, मौके पर पहुंचा प्रशासनिक अमला

उत्तरकाशी। जंगल की आग से परेशान उत्तरकाशी के लोगों की परेशानियां शुक्रवार को और भी बढ़ गई हैं। जिले के पुरोला ब्लाॅक के 3 मकानों में अचानक से आग लग गई और देखते ही देखते सभी मकान जलकर खाक हो गए। हालांकि अभी आग लगने की वजहों का पता नहीं चला है लेकिन मौके पर उत्तरकाशी जिले के एसडीएम और पुलिस अधीक्षक पहुंचकर स्थिति का जायजा ले रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने मामले की जांच के आदेश भी दिए हैं। बता दें कि इन मकानों के आसपास रहने वाले बाकी के मकानों से लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। फिलहाल कई परिवार बेघर हो गए हैं। 

गौरतलब है कि उत्तराखंड के ज्यादातर जिलों में पिछले 10 दिनों से आग लगी हुई है और यह फैलते हुए रिहाइशी इलाकों को भी अपनी चपेट में लेती जा रही है। हालांकि उत्तरकाशी के पुरोला ब्लाॅक के मकानों में लगी आग का जंगल की आग से कोई लेना-देना नहीं है। अब आग लगने की सही जानकारी मामले की जांच के बाद ही पता चल पाएगा। 

ये भी पढ़ें - मुश्किलों में फंस सकते हैं शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने वाले शिक्षक नेता, हो सक...


आपको बता दें कि जंगलों में लगी आग को बुझाने में वन विभाग के साथ दूसरा सरकारी अमला भी लगा हुआ है। सरकार की तरफ से इस पर काबू पाने के लिए हैलीकाॅप्टर से पानी गिराने का भी विचार किया जा रहा है और इसके लिए हेली कंपनियों के साथ टाईअप भी कर लिया गया है।  

Todays Beets: