Friday, December 14, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

ट्रैकिंग मजा हुआ किरकिरा, रुद्रप्रयाग में ट्रैकरों का दल फंसा, रेस्क्यू आॅपरेशन तेज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ट्रैकिंग मजा हुआ किरकिरा, रुद्रप्रयाग में ट्रैकरों का दल फंसा, रेस्क्यू आॅपरेशन तेज

चमोली। ट्रैकिंग के रोमांच का मजा लेने के लिए चमोली पहुंचे पश्चिम बंगाल के ट्रैकरों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। 9 ट्रैकर्स का एक ग्रुप रुद्रप्रयाग के पनपतिया नामक ग्लेशियर में फंस गया है। दिल्ली स्थित मुख्यालय को दी गई प्राथमिक सूचना के आधार पर जिसमें कि उनके कुल 9 लोग जो कि बंगाल के निवासी हैं, इनके साथ 12 पोर्टर, 2 गाइड कुल 23 सदस्यीय टीम जो कि दिनांक 5 जून 2018 से लामबगड़ (जनपद चमोली) खीरों नदी से पैदल ट्रैकिंग करते हुए पनपतिया (जनपद रुद्रप्रयाग में स्थित) नामक ग्लेशियर में फंस गए हैं। अब इनके रेस्क्यू का काम शुरू कर दिया गया है। 

ये भी पढ़ें - एचएनबी विश्वविद्यालय के कुलपति की बढ़ी मुश्किलें, हाईकोर्ट ने भेजा अवमानना का नोटिस 

गौरतलब है कि ट्रैकरों का यह दल 11 जून को सजल सरोवर पर कपक गए हैं। वहीं  2 ट्रैकर व 2 पोर्टर थाना ऊखीमठ पहुंचने वाले हैं। ट्रैकरों के दल के रुद्रप्रयाग में फंसने की खबर के बाद जिला पुलिस, स्थानीय प्रशासन व आपदा प्रबंधन व रांसी गौंडार के स्थानीय युवकों की एक टीम गठित कर मदमहेश्वर के लिए रवाना की गई है।


एसडीआरएफ की टीम व अन्य सदस्यों को देहरादून से रुद्रप्रयाग बुलाया गया है। अब इन्हें गुरुवार की सुबह उनके बचाव के लिए मदमहेश्वर में हेलीकाॅप्टर के जरिए डाॅप किया जाएगा ताकि जल्द से जल्द उन्हें ढूंढ़ा जा सके।  

Todays Beets: