Saturday, March 23, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

ट्रैकिंग मजा हुआ किरकिरा, रुद्रप्रयाग में ट्रैकरों का दल फंसा, रेस्क्यू आॅपरेशन तेज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ट्रैकिंग मजा हुआ किरकिरा, रुद्रप्रयाग में ट्रैकरों का दल फंसा, रेस्क्यू आॅपरेशन तेज

चमोली। ट्रैकिंग के रोमांच का मजा लेने के लिए चमोली पहुंचे पश्चिम बंगाल के ट्रैकरों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। 9 ट्रैकर्स का एक ग्रुप रुद्रप्रयाग के पनपतिया नामक ग्लेशियर में फंस गया है। दिल्ली स्थित मुख्यालय को दी गई प्राथमिक सूचना के आधार पर जिसमें कि उनके कुल 9 लोग जो कि बंगाल के निवासी हैं, इनके साथ 12 पोर्टर, 2 गाइड कुल 23 सदस्यीय टीम जो कि दिनांक 5 जून 2018 से लामबगड़ (जनपद चमोली) खीरों नदी से पैदल ट्रैकिंग करते हुए पनपतिया (जनपद रुद्रप्रयाग में स्थित) नामक ग्लेशियर में फंस गए हैं। अब इनके रेस्क्यू का काम शुरू कर दिया गया है। 

ये भी पढ़ें - एचएनबी विश्वविद्यालय के कुलपति की बढ़ी मुश्किलें, हाईकोर्ट ने भेजा अवमानना का नोटिस 

गौरतलब है कि ट्रैकरों का यह दल 11 जून को सजल सरोवर पर कपक गए हैं। वहीं  2 ट्रैकर व 2 पोर्टर थाना ऊखीमठ पहुंचने वाले हैं। ट्रैकरों के दल के रुद्रप्रयाग में फंसने की खबर के बाद जिला पुलिस, स्थानीय प्रशासन व आपदा प्रबंधन व रांसी गौंडार के स्थानीय युवकों की एक टीम गठित कर मदमहेश्वर के लिए रवाना की गई है।


एसडीआरएफ की टीम व अन्य सदस्यों को देहरादून से रुद्रप्रयाग बुलाया गया है। अब इन्हें गुरुवार की सुबह उनके बचाव के लिए मदमहेश्वर में हेलीकाॅप्टर के जरिए डाॅप किया जाएगा ताकि जल्द से जल्द उन्हें ढूंढ़ा जा सके।  

Todays Beets: