Tuesday, March 26, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

स्कीइंग, राफ्टिंग व रॉक क्लाइंबिंग जैसे साहसिक खेलों के जरिए सुरक्षा बलों व पुलिस को दिया जा रहा प्रशिक्षण 

अंग्वाल संवाददाता
स्कीइंग, राफ्टिंग व रॉक क्लाइंबिंग जैसे साहसिक खेलों के जरिए सुरक्षा बलों व पुलिस को दिया जा रहा प्रशिक्षण 

देहरादून । आईटीबीपी द्वारा टिहरी झील के निकट साहसिक खेल संस्थान खोलने हेतु राज्य सरकार द्वारा भूमि आवंटन को लेकर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत तथा उपमहानिरीक्षक तथा प्रधानाचार्य पर्वतारोहण एवं स्कीइंग संस्थान आइटीबीपी औली गंभीर सिंह चैहान के मध्य शनिवार को मुख्यमंत्री आवास पर विस्तृत चर्चा की गई। उपमहानिरीक्षक तथा प्रधानाचार्य पर्वतारोहण एवं स्कीइंग संस्थान आइटीबीपी औली गंभीर सिंह चैहान ने कहा कि आइटीबीपी का उत्तराखंड से अटूट रिश्ता रहा है। आईटीबीपी साहसिक खेलों में अपना विशिष्ट स्थान बना चुका है। उन्होंने बताया कि पर्वतारोहण एवं स्कीइंग संस्थान आईटीबीपी, औली, जोशीमठ द्वारा पर्वतारोहण, स्कीइंग, राफ्टिंग एवं रॉक क्लाइंबिंग जैसे जोखिम भरे साहसिक खेलों में सुरक्षा व पुलिस बलों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 

इस दौरान गंभीर सिंह चैहान ने बताया की टिहरी झील के निकट साहसिक खेल संस्थान खोलने से क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा तथा स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। इस साहसिक खेल संस्थान के माध्यम से आपदा के समय रेस्क्यू संबंधित कार्यों में स्थानीय प्रशासन को मदद मिलेगी तथा इसके साथ ही क्षेत्र के युवाओं का रुझान भी आईटीबीपी तथा साहसिक खेलों के प्रति बढ़ेगा।


मुख्यमंत्री रावत ने फोन पर जिलाधिकारी टिहरी को इस संबंध में उचित कार्यवाही के निर्देश दिए तथा आइटीबीपी को राज्य सरकार की ओर से हर संभव सकारात्मक सहयोग का आश्वासन दिया।

Todays Beets: