Thursday, January 17, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

बीमार शिक्षकों पर मेहरबान हुए शिक्षा मंत्री, 15 जनवरी तक तबादला करने के दिए निर्देश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बीमार शिक्षकों पर मेहरबान हुए शिक्षा मंत्री, 15 जनवरी तक तबादला करने के दिए निर्देश

देहरादून। उत्तराखंड सरकार ने तबादला एक्ट के तहत बड़ा फैसला लिया है। इसके तहत शिक्षा विभाग ने गंभीर रूप से बीमार 40 शिक्षकों का तबादला 15 जनवरी तक कर दिया जाएगा। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि इन शिक्षकों का चयन 1500 शिक्षकों में से किया गया है। उन्होंने बताया कि तबादला एक्ट के तहत गठित मुख्य सचिव समिति को इन शिक्षकों का प्रस्ताव भेजा जा चुका है। शिक्षा मंत्री ने बताया कि इन शिक्षकों का चयन गहन जांच के बाद किया गया है। 

गौरतलब है कि शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि बीमार शिक्षकों के रूप में विभाग को करीब 1500 शिक्षकों के आवेदन मिले थे। इन शिक्षकों की गहन मेडिकल जांच की गई। इस जांच में सिर्फ 40 ऐसे शिक्षकों का नाम सामने आया है जो गंभीर रूप से बीमार हैं। ऐसे में विभाग को इनका तबादला 15 जनवरी तक करने के निर्देश दिए हैं। 

ये भी पढ़ें- हरिद्वार के जसवीर बने युवाओं के लिए मिसाल, किसानी के साथ तराश रहे खिलाड़ी


यहां बता दें कि शिक्षा मंत्री के द्वारा लगाए गए जनता दरबार में बेरोजगार /प्रशिक्षित संगठनों द्वारा नौकरी की मांग या शिक्षकों के स्थानांतरण के संबंध में आए। टिहरी नरेंद्रनगर ब्लॉक के उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में कार्यरत सहायक अध्यापक मोहम्मद वानिश की 90 फीसदी विकलांगता को देखते हुए मंत्री ने उन्हें तत्काल कहीं और सम्बद्ध करने को कहा है। गौर करने वाली बात है कि जनता दरबार को ट्रांसपोर्टर के जहर खाने और शिक्षिका के द्वारा सीएम को अपशब्द कहने की घटना के बाद स्थगित कर दिया गया था। ऐसे में सुरक्षा के दृष्टिकोण से भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी। 

Todays Beets: