Tuesday, February 20, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

मुख्यमंत्री ने जौलजीबी मेले का किया शुभारंभ, भारत-नेपाल की साझी विरासत को आगे बढ़ाने की कवायद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मुख्यमंत्री ने जौलजीबी मेले का किया शुभारंभ, भारत-नेपाल की साझी विरासत को आगे बढ़ाने की कवायद

देहरादून। भारत और नेपाल के बीच की संस्कृति को आगे बढ़ाने वाले मेले और उत्सवों को बढ़ाने के लिए उत्तराखंड सरकार पूरी कोशिश कर रही है। इसी क्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने उत्तराखंड और नेपाल के बीच वर्षों से चले आ रहे जौलजीबी मेले का उद्घाटन किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मेला दोनों राष्ट्रों के बीच सांस्कृतिक विरासत को बढ़ाने का काम करता है। सरकार इस तरह के मेलों और अन्य आयोजनों को आगे लाने में पूरा सहयोग करेगी।

सांस्कृतिक विरासत को आगे बढ़ाएगी

गौरतलब है कि काली और गोरी नदी के किनारे लगने वाले इस मेले में उत्तराखंड और नेपाल के व्यापारी अपने-अपने सामानों को बेचते हैं। सीएम ने लोगों से कहा कि नदी के संगम तट पर आयोजित यह मेला भारत और नेपाल के आपसी संबंधों को भी मजबूत करता है। बता दें कि उत्तराखंड और नेपाल के बीच बेटी और रोटी का संबंध रहा है। उसी तरह यह मेला दोनों देशों की साझी संस्कृति  को आगे बढ़ाने में अपना योगदान देता आ रहा है। सीएम ने कहा कि सरकार मेलों, महोत्सवों को लोक संस्कृति के संरक्षण के लिए महत्वपूर्ण अवसर समझती है। 

ये भी पढ़ें - पौड़ी का सुरजीत इसरो में बना वैज्ञानिक, सेल्फ स्टडी करने वालों के लिए बने मिसाल


सरकार का प्रोत्साहन

आपको बता दें कि जौलजीबी मेले में उत्तराखंड सरकार के विभिन्न विभाग भी अपने-अपने स्टाॅल लगाती है। इनमें यहां के हैंडीक्राफ्ट और खाने के सामानों को रखा जाता है। सीएम ने उन स्टाॅल्स का भी निरीक्षण किया। इस मेले में दोनों देशों के सीमांत इलाकों से लोग खरीदारी करने आते हैं।  

Todays Beets: