Saturday, February 23, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

छात्रा से यौन शोषण पर सीएम ने दिए सख्त निर्देश, स्कूल की मान्यता होगी रद्द

अंग्वाल न्यूज डेस्क
छात्रा से यौन शोषण पर सीएम ने दिए सख्त निर्देश, स्कूल की मान्यता होगी रद्द

देहरादून। दून के जीआरडी वर्ल्ड डे बोर्डिंग स्कूल में छात्रा के साथ हुए यौन शोषण के मामले में सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सख्त कदम उठाया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि छात्राओं के साथ यौन शोषण के मामले को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सीएम ने स्कूल की मान्यता रद्द करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथी ही सीबीएसई को भी इसकी मान्यता निरस्त करने की सिफारिश की गई है। बता दें कि पिछले दिनों इस स्कूल की 10वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा के साथ सीनियर छात्रों के साथ स्कूल के डायरेक्टर ने भी लगातार यौन शोषण किया था और छात्रा के गर्भवती होने के बाद मामले का खुलासा हुआ था।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ने कहा कि छात्राओं के साथ होने वाले यौन शोषण के मामले को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि एसआईटी ने मौके पर से सबूतों को इकट्ठा किया है और इसके साथ ही सीबीएसई को स्कूल की एनओसी निरस्त करने की सिफारिश कर दी गई है। 

ये भी पढ़ें - प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं में आएगी बेहतरी, दून में बनेगा 300 बिस्तरों वाला जच्चा-बच्चा अस्पताल


यहां बता दें कि मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में सोमवार को होने वाली सुनवाई में कोशिश की जाएगी कि किसी भी व्यक्ति को जमानत नहीं मिल सके। गौर करने वाली बात है कि पिछले महीने छात्रा के साथ स्कूल मंे पढ़ने वाले सीनियर छात्रों और स्कूल के डायरेक्टर ने मिलकर दुष्कर्म किया था। छात्रा के गर्भवती होने पर मामला सामने आया था। एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने सहसपुर पुलिस को जांच के निर्देश दिए थे। सहसपुर पुलिस ने चारों छात्र, स्कूल निदेशक और प्रधानाचार्य सहित नौ लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा। आरोपियों ने अब इस मामले में अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत में जमानत अर्जी पेश की है। इस पर सोमवार को सुनवाई होनी है। 

Todays Beets: