Thursday, May 24, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

त्रिवेन्द्र रावत तोड़ेंगे ‘हरदा’ का रिकाॅर्ड, टिहरी झील के किनारे करेंगे कैबिनेट की बैठक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
त्रिवेन्द्र रावत तोड़ेंगे ‘हरदा’ का रिकाॅर्ड, टिहरी झील के किनारे करेंगे कैबिनेट की बैठक

देहरादून। गैरसैंण में मंत्रिमंडल की बैठक आयोजित करने के बाद अब प्रदेश सरकार ने एक और बैठक राजधानी से बाहर करने का फैसला लिया है। राज्य में साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने टिहरी झील के किनारे कैबिनेट बुलाने का फैसला किया है। बता दें कि ऐसा आठवीं बार होगा जब प्रदेश सरकार राजधानी से बाहर कैबिनेट की बैठक करेगी। हालांकि अभी बैठक को लेकर तारीखों का ऐलान नहीं किया गया है लेकिन टिहरी महोत्सव से पहले कैबिनेट वहां पहुंचेगी।

गौरतलब है कि राजधानी से बाहर कैबिनेट की बैठक आयोजित करने का सिलसिला भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री डाॅक्टर रमेश पोखरियाल निशंक ने 2011 में की थी। उन्होंने हरिद्वार में हर की पैड़ी पर कैबिनेट की बैठक का आयोजन किया था। इसके बाद कांग्रेस के तत्कालीन मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने 2012 में गैरसैंण में कैबिनेट की बैठक का आयोजन किया था। 

ये भी पढ़ें - बाॅलीवुड के बाद दक्षिण भारत के बड़े अभिनेता भी करेंगे प्रदेश में शूटिंग, सीएम ने भी दिया सहयोग...


यहां बता दें कि राजधानी से बाहर कैबिनेट की बैठकों का आयोजन करने के मामले में हरीश रावत सबसे आगे हैं। उन्होंने वर्ष 2014 में अल्मोड़ा में कैबिनेट की बैठक की। हरदा कैबिनेट को लेकर केदारनाथ पहुंच गए, जहां बैठक में कई अहम निर्णय लिए गए। उन्होंने हरिद्वार जनपद के चुड़ियाला में भी कैबिनेट की बैठक की। अब ऐसा लगता है कि भाजपा के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत राजधानी से बाहर कैबिनेट बैठक करने का हरीश रावत के रिकार्ड को तोड़ देंगे। बता दें कि त्रिवेन्द्र रावत भराड़ीसैंण में दो कैबिनेट बैठकें कर चुके हैं और अब टिहरी में कैबिनेट बैठक करने की उनकी घोषणा जाहिर कर रही है कि उन्हें राजधानी से बाहर जाने में कोई दिक्कत नहीं है। 

Todays Beets: