Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

त्रिवेन्द्र रावत तोड़ेंगे ‘हरदा’ का रिकाॅर्ड, टिहरी झील के किनारे करेंगे कैबिनेट की बैठक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
त्रिवेन्द्र रावत तोड़ेंगे ‘हरदा’ का रिकाॅर्ड, टिहरी झील के किनारे करेंगे कैबिनेट की बैठक

देहरादून। गैरसैंण में मंत्रिमंडल की बैठक आयोजित करने के बाद अब प्रदेश सरकार ने एक और बैठक राजधानी से बाहर करने का फैसला लिया है। राज्य में साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने टिहरी झील के किनारे कैबिनेट बुलाने का फैसला किया है। बता दें कि ऐसा आठवीं बार होगा जब प्रदेश सरकार राजधानी से बाहर कैबिनेट की बैठक करेगी। हालांकि अभी बैठक को लेकर तारीखों का ऐलान नहीं किया गया है लेकिन टिहरी महोत्सव से पहले कैबिनेट वहां पहुंचेगी।

गौरतलब है कि राजधानी से बाहर कैबिनेट की बैठक आयोजित करने का सिलसिला भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री डाॅक्टर रमेश पोखरियाल निशंक ने 2011 में की थी। उन्होंने हरिद्वार में हर की पैड़ी पर कैबिनेट की बैठक का आयोजन किया था। इसके बाद कांग्रेस के तत्कालीन मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने 2012 में गैरसैंण में कैबिनेट की बैठक का आयोजन किया था। 

ये भी पढ़ें - बाॅलीवुड के बाद दक्षिण भारत के बड़े अभिनेता भी करेंगे प्रदेश में शूटिंग, सीएम ने भी दिया सहयोग...


यहां बता दें कि राजधानी से बाहर कैबिनेट की बैठकों का आयोजन करने के मामले में हरीश रावत सबसे आगे हैं। उन्होंने वर्ष 2014 में अल्मोड़ा में कैबिनेट की बैठक की। हरदा कैबिनेट को लेकर केदारनाथ पहुंच गए, जहां बैठक में कई अहम निर्णय लिए गए। उन्होंने हरिद्वार जनपद के चुड़ियाला में भी कैबिनेट की बैठक की। अब ऐसा लगता है कि भाजपा के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत राजधानी से बाहर कैबिनेट बैठक करने का हरीश रावत के रिकार्ड को तोड़ देंगे। बता दें कि त्रिवेन्द्र रावत भराड़ीसैंण में दो कैबिनेट बैठकें कर चुके हैं और अब टिहरी में कैबिनेट बैठक करने की उनकी घोषणा जाहिर कर रही है कि उन्हें राजधानी से बाहर जाने में कोई दिक्कत नहीं है। 

Todays Beets: