Friday, August 17, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

यूपीसीएल को लापरवाही पर विद्युत नियामक आयोग ने दिया जोर का झटका, लगाया 14 करोड़ 58 लाख का जुर्माना

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूपीसीएल को लापरवाही पर विद्युत नियामक आयोग ने दिया जोर का झटका, लगाया 14 करोड़ 58 लाख का जुर्माना

देहरादून। विद्युत नियामक आयोग (UERC) ने यूपीसीएल को एक बड़ा झटका दिया है। आयोग ने उपभोक्ताओं को बिजली के कनेक्शन देने में देरी और लापरवाही पर 14 करोड़ 58 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। यूपीसीएल को यह रकम 6 किश्तों में भुगतान करना होगा। जुर्माना जमा न करने पर से कानूनी कार्रवाई अमल में लाने की बात कही है। 

लापरवाही का खामियाजा

गौरतलब है कि विद्युत नियामक आयोग में इस बात का प्रावधान है कि अगर यूपीसीएल किसी भी उपभोक्ता को कनेक्शन देने में देरी करता है तो उस पर जुर्माना स्वतः ही आरोपित हो जाता है। इसकी गणना धनराशि पर 10 से 1000 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से लगाया जाता है। बता दें कि साल 2009 से 2015 तक यूपीसीएल को करीब 6 करोड़ 51 लाख, 89 हजार 545 रुपये का जुर्माना लगाया है। इस रकम के भुगतान के लिए यूपीसीएल को उसके प्रबंध निदेशक के अनुरोध पर 6 किश्तों में देने के निर्देश दिए गए हैं। 

ये भी पढ़ें - डाक टिकट जमा करने वाले छात्रों को विभाग देगा छात्रवृत्ति, कक्षा 6 से 9 तक के छात्र ले सकते है...


देरी के लिए माफी

आपको यूपीसीएल ने अब तक करीब 40 हजार उपभोक्ताओं को कनेक्शन देने में देरी की है। यूपीसीएल के प्रबंध निदेशक बीसीके मिश्रा ने बताया कि पुराने प्रकरणों में सुधार लाया जाएगा। इसमें देरी के लिए खंड व उप खंडों में तैनात कार्मिकों की जिम्मेदारी तय करने का भरोसा देते हुए माफी का अनुरोध किया लेकिन आयोग के चेयरमैन सुभाष कुमार ने 6 किश्तों में उक्त रकम जमा करने को कहा। बता दें कि विद्युत नियामक आयोग ने 2015 और 2016 में यूपीसीएल द्वारा 18 हजार से ज्यादा कनेक्शन देने में देरी का मामला सामने आया है। 

 

Todays Beets: