Sunday, February 24, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

यूओयू में रद्द किए गए 18 कोर्स को दोबारा मिली मान्यता, यूजीसी ने जारी की लिस्ट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूओयू में रद्द किए गए 18 कोर्स को दोबारा मिली मान्यता, यूजीसी ने जारी की लिस्ट

देहरादून। उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय में दाखिला लेने के इच्छुक छात्रों को बड़ी यूजीसी ने बड़ी राहत दी है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने विश्वविद्यालय में चलने वाले 75 में से 18 कोर्स को दोबारा से शुरू करने की अनुमति दे दी है। यूजीसी ने अपनी वेबसाइट पर जारी कर दी। इन सभी कोर्सेज में 20 अक्तूबर तक दाखिले होंगे। 

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले यूजीसी ने उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय (यूओयू) के ज्यादातर कोर्स की मान्यता रद्द कर दी थी। इसके बाद से यूओयू से शिक्षा हासिल करने वालों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। इसके बाद उच्च शिक्षा मंत्री डाॅक्टर धन सिंह रावत ने मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात कर इस पर विचार करने का अनुरोध किया था। यूओयू ने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के सामने अपनी बातें रखीं। आखिरकार यूजीसी ने देशभर के दूरस्थ शिक्षा संस्थानों को 535वीं बैठक में इस साल सशर्त कोर्स चलाने की अनुमति दे दी है।

ये भी पढ़ें - केदरानाथ धाम के दर्शन होंगे आसान, सरकार ने कंपनियों से मांगी ईआईओ

यहां बता दें कि पहले उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के पास मात्र 5 कोर्स थे जिसकी संख्या अब बढ़कर 18 हो गई है। यह मान्यता सत्र 2018-19 से सत्र 2022-23 तक रहेगी। हालांकि तमाम महत्वपूर्ण कोर्सेस में इस साल मान्यता नहीं मिल पाई है। विश्वविद्यालय के कुलसचिव ने कहा कि यूजीसी से मान्यता मिलने के बाद इन कोर्स में दाखिला शुरू कर दिया गया है। दाखिला लेने की आखिरी तारीख 20 अक्टूबर तय की गई है। 

अब इन कोर्स में मिली मान्यता

मास्टर ऑफ होटल मैनेजमेंट (एमएचएम)

बैचलर ऑफ कॉमर्स (बीकॉम)

बैचलर ऑफ साइंस (बीएससी)

बैचलर ऑफ साइंस (बीएससी) (सिंगल सब्जेक्ट)

बैचलर ऑफ होटल मैनेजमेंट (बीएचएम)

बैचलर ऑफ स्पेशल एजुकेशन लर्निंग डिसेबिलिटीज (बीएसईएलडी)

बैचलर ऑफ स्पेशल एजुकेशन मेंटल रिटार्डेशन (बीएसईएमआर)


बैचलर ऑफ टूरिज्म एंड ट्रेवल मैनेजमेंट (बीटीटीएम)

मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए)

मास्टर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (एमसीए)

मास्टर ऑफ टूरिज्म एंड ट्रेवल मैनेजमेंट (एमटीटीएम)

मास्टर ऑफ साइंस (एमएससी) (साइबर सिक्योरिटी)

मास्टर ऑफ साइंस (एमएससी) इंफोर्मेशन टेक्नोलॉजी (आईटी)

मास्टर ऑफ आर्ट्स (एमए) जियो इंफोर्मेटिक्स (जीआई)

मास्टर ऑफ आर्ट्स जर्नलिज्म एंड मास कम्यूनिकेशन (एमजेएमसी)

मास्टर ऑफ साइंस (एमएससी) जियो इंफोर्मेटिक्स (जीआई)

मास्टर ऑफ आर्ट्स (एमए) सोशियोलॉजी

मास्टर ऑफ कॉमर्स (एमकॉम) 

 

Todays Beets: