Saturday, January 20, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना को लागू करने में उत्तराखंड रहा अव्वल, ग्लोबल स्किल मीट में मिला सम्मान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना को लागू करने में उत्तराखंड रहा अव्वल, ग्लोबल स्किल मीट में मिला सम्मान

देहरादून। हर हाथ को हुनरमंद बनाने के लिए केन्द्र सरकार की योजना प्रधानमंत्री कौशल विकास में उत्तराखंड सबसे आगे रहा है। उत्तराखंड इस योजना को स्टेट कंपोनेंट के तहत लागू करने वाले पहला राज्य बन गया है। इस योजना के तहत देश का पहला प्रशिक्षण केंद्र देहरादून में 60 युवाओं के प्रशिक्षण से प्रारंभ किया जा चुका है। प्रोटेक्नोलॉजीस के कंपयूटर अकादमी केंद्र में चल रहे इस प्रशिक्षण केंद्र में फील्ड टेक्नीशियन, कंप्यूटर एंड पेरिफेरल के क्षेत्र में प्रशिक्षित किया जा रहा है।

प्रशिक्षण केन्द्र खुले

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का पूरा ध्यान कौशल विकास पर निर्भर है। इसके लिए केन्द्रीय योजना पर पूरी तरह से अमल किया जा रहा है। कौशल विकास योजना के प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉक्टर पंकज कुमार पांडेय के अनुसार प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत देश का पहला प्रशिक्षण बैच शुरु करने में तकनीकी दिक्कतें भी आईं, लेकिन इन्हें विभिन्न संस्थानों के समन्वय से दूर कर लिया गया है और आने वाले समय में और भी प्रशिक्षण केन्द्र खोले जाएंगे। 

ये भी पढ़ें - अवैध तरीके से पेड़ों के कटान मामले में रेंजर समेत 5 दारोगा निलंबित, वन विभाग ने की कार्रवाई


एप पर करें संपर्क

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना में 2020 तक 40 हजार युवाओं को मुफ्त रोजगारपरक प्रशिक्षण देने का लक्ष्य रखा गया है। पंकज पांडे ने बताया कि इस योजना से पहले ही ‘उत्तराखंड कौशल विकास मिशन’ के जरिए 12000 से अधिक युवाओं को 32 विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षण प्रदान किया जा चुका है।  ‘उत्तराखंड कौशल विकास मिशन’ की ओर से ‘कुशल उत्तराखंड एप’ विकसित किया गया है। इसके जरिए लोग अपनी जरूरत के हिसाब से कुशल युवा प्लंबर, इलेक्ट्रिशियन आदि से संपर्क कर सकते हैं। यहां बता दें कि कौशल विकास मिशन को जून 2017 में पेरिस में हुई ग्लोबल स्किल मीट में सम्मानित किया जा चुका है।

Todays Beets: