Thursday, January 17, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

जैविक खेती के क्षेत्र में उत्तराखंड फिर रहा अव्वल, दूसरी बार मिला राष्ट्रीय पुरस्कार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जैविक खेती के क्षेत्र में उत्तराखंड फिर रहा अव्वल, दूसरी बार मिला राष्ट्रीय पुरस्कार

नई दिल्ली/देहरादून। उत्तराखंड  को जैविक खेती के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए लगातार दूसरी बार राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया है। यह अवार्ड कर्नाटक की ओर से सोमवार को दिल्ली में आयोजित जैविक कृषि अवार्ड कार्यक्रम में उत्तराखंड को मिला है। बता दें कि इस समय  प्रदेश के करीब 3 लाख किसान 1.5 लाख हेक्टेयर भूमि पर जैविक खेती कर रहे हैं। केन्द्र सरकार की योजनाओं के द्वारा प्रदेश में जैविक खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है। इससे पहले प्रगति मैदान में भी आयोजित कार्यक्रम को जैविक उत्पादन में बेहतरीन योगदान के लिए सर्वश्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार दिया गया था।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार के द्वारा राज्य में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए परंपरागत कृषि विकास योजना एवं राष्ट्रीय कृषि विकास योजना चलाई जा रही है। इन योजनाओं के जरिए प्रदेश के किसानांे को परंपरागत खेती के अलावा जैबिक खेती के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है और किसानों ने भी इसमें काफी रुचि दिखाई है। 

ये भी पढ़ें- सोनिया-राहुल के बचाव में आए पूर्व मंत्री एके एंटनी, कहा- दोनों ने कभी अगस्ता सौदों और खरीद मे...


यहां बता दें कि केंद्र सरकार के द्वारा राज्य में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए 1500 करोड़ रुपये की योजना को भी स्वीकृति दी गई थी। इसके तहत करीब 10 हजार आॅर्गेनिक कलस्टर बनाने के लिए काम किया जा रहा है। राज्य में जैविक खेती के क्षेत्र में हो रहे काम को देखते हुए कर्नाटक सरकार और इंटरनेशनल कंपीटनेंस सेंटर फॉर आर्गेनिक एग्रीकल्चर(आईसीसीओए) की ओर से उत्तराखंड को दूसरी बार राष्ट्रीय अवार्ड दिया गया है। आपको बता दें कि दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में कर्नाटक के कृषि मंत्री ने उत्तराखंड को पहला अवार्ड दिया और उत्तराखंड जैविक विकास परिषद के प्रबंध निदेशक विनय कुमार ने यह पुरस्कार प्राप्त किया।

 

Todays Beets: