Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

प्रदेश सरकार ने किसानों को दिया बड़ा झटका, नहीं होगी ऋणमाफी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
प्रदेश सरकार ने किसानों को दिया बड़ा झटका, नहीं होगी ऋणमाफी

देहरादून। उत्तराखंड सरकार ने राज्य के कर्ज में डूबे किसानों को बड़ा झटका दिया है। सरकार ने विधानसभा सत्र के दौरान कहा कि आय के सीमित संसाधन होने की वजह से किसानों के करोड़ों रुपये के कर्ज को माफ नहीं किया जा सकता है। सरकार की ओर से कहा गया कि किसानों को काॅपरेटिव बैंक की तरफ से मात्र 2 फीसदी ब्याज पर ऋण मुहैया कराया जा रहा है। बता दें कि विधायक सुरेन्द्र सिंह जीना ने किसानों की ऋणमाफी का मुद्दा उठाया था। 

गौरतलब है कि राज्य में बड़ी संख्या में किसानों ने बैंक ऋण के कारण आत्महत्या की है। विपक्षी नेताओं के द्वारा भी कई बार ऋणमाफी का मुद्दा उठाया गया लेकिन सरकार ने मानसून सत्र के दौरान यह स्पष्ट कर दिया है कि किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। उन्हें काॅपरेटिव बैंक की ओर से मात्र 2 फीसदी ब्याज पर ऋण दिया जा रहा है। 

ये भी पढ़ें - रुड़की में 50 सवारियों से भरी बस आई हाईटेंशन तार की चपेट में, कई झुलसे, 1 की हालत गंभीर


यहां बता दें कि संसदीय कार्यमंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि किसान सरकार का योजना का लाभ उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के पास आय के सीमित संसाधन हैं ऐसे में किसानों के करोड़ों रुपये के कर्ज को माफ नहीं किया जा सकता है। प्रकाश पंत ने कहा कि 30 अगस्त 2018 तक प्रदेश में फसली ऋण किसानों की संख्या 4 लाख 91 हजार 525 तक पहुंच गई है जिन्होंने 6522 करोड़ का ऋण लिया है। मंत्री ने कहा कि किसान राज्य और केंद्र की योजना से भी लाभ उठा रहे हैं। विधायक सुरेन्द्र सिंह जीना ने यूपी सरकार की तर्ज पर प्रदेश के किसानों की कर्जमाफी की मांग की है। 

 

Todays Beets: