Monday, January 22, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

उत्तरकाशी में गंगा नदी पर बना पुल टूटा, भारत-चीन सीमा और हर्षिल घाटी से संपर्क कटा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तरकाशी में गंगा नदी पर बना पुल टूटा, भारत-चीन सीमा और हर्षिल घाटी से संपर्क कटा

उत्तरकाशी। उत्तराखंड में आई भयानक आपदा के दौरान गंगोरी इलाके में अस्सी गंगा नदी के ऊपर बना लोहे का पुल गुरुवार को अचानक टूट गया। इसकी वजह से गंगा घाटी का मुख्यालय से संपर्क टूट गया है। वहीं भारत-चीन सीमा के अलावा खबसूरत हर्षिल घाटी का संपर्क भी बिल्कुल खत्म हो गया है। पुल टूटने से गंगोत्री घाटी भी एकदम अलग-थलग पड़ गई है और सड़क पर कई किलोमीटर तक लंबा जाम लग गया है। 

ट्रक चालक फरार

गौरतलब है कि उत्तरकाशी जिले के गंगोरी इलाके में मौजूद यह पुल उस वक्त टूट गया जब इस पर से एक ओवरलोडेड ट्रक गुजर रहा था। पुल किनारों से भी उखड़ गया। बता दें कि इस पुल पर भारी वाहनों की आवाजाही पर पहले से ही रोक लगी हुई थी लेकिन प्रशासन की लापरवाही के चलते यहां से भारी वाहनों का आना-जाना जारी था।  पुल के टूटने की खबर मिलते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया। पुलिस के मौके पर पहुंचने के पहले ही चालक ट्रक को छोड़कर फरार हो गया था।

ये भी पढ़ें -साल 2015 में ऊर्जा निगम में हुई भर्ती परीक्षा को सरकार ने किया निरस्त, जांच में मिली गड़बड़ी के...


किसी के हताहत होने की खबर नहीं

आपको बता दें कि गंगोरी नदी पर बना पुल उत्तरकाशी में आई भयानक आपदा  में बह गया था। इसके बाद सीमा सड़क संगठन ने कड़ी मेहनत के बाद महज 20 दिनों में ही वैली ब्रिज तैयार किया था। आपदा के इतने साल बीत जाने के बाद भी कमजोर हो चुके पुल की एक बार भी मरम्मत नहीं कराई गई। बता दें कि पुल के टूटने के बाद भी गनीमत यह रही कि इसमें किसी कि हताहत होने की कोई खबर नहीं मिली है।

Todays Beets: