Friday, November 16, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

ऋषिकेश के ‘चायवाले’ के बेटे ने मां-बाप का सीना किया चौड़ा, जेईई के बाद 12वीं में भी किया टाॅप

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ऋषिकेश के ‘चायवाले’ के बेटे ने मां-बाप का सीना किया चौड़ा, जेईई के बाद 12वीं में भी किया टाॅप

देहरादून। किसी भी लक्ष्य की प्राप्ति में गरीबी और खराब आर्थिक स्थिति आड़े नहीं आती है। यह बात ऋषिकेश के एक चाय वाले के बेटे पर पूरी तरह से फिट बैठती है। ऋषिकेश पब्लिक स्कूल के छात्र व्योम ने कुछ ही दिन पहले जेईई मेन परीक्षा में भी अपनी काबलियत का लोहा मनवाया था। बता दें कि व्योम ने 12वीं की परीक्षा में भी टॉप किया है। 

गौरतलब है कि सोमवार को घोषित आईएससी 12वीं के परीक्षा परिणामों में नगर के शीर्ष पर रहे व्योम गुप्ता ने न सिर्फ अपने स्कूल बल्कि शहर का नाम भी रोशन किया। बता दें कि व्योम गुप्ता के पिता संजय गुप्ता रेलवे रोड पर करीब दो दशक से चाय की ठेली लगाकर अपनी आजीविका कमा रहे हैं। व्योम ने अपनी कामयाबी का श्रेय पिता अपने माता-पिता और शिक्षकों को दी है। व्योम का सपना है कि वह एयरोनाॅटिकल इंजीनियर बनकर देश की सेवा करना चाहते हैं। व्योम ने करीब 8 से 9 घंटे की कड़ी मेहनत से जेईई मेन परीक्षा में सफलता हासिल की है। इसके अलावा एक अन्य छात्र ने भी मिसाल कायम की है। 

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड के आईजी(कानून व्यवस्था) के बेटे ‘आर्यमान’ ने सीआईएससीई में हासिल किया 98 फीसदी अंक,...


सौरभ ने बिना ट्यूशन हासिल की कामयाबी  

आईसीएसई 10वीं की परीक्षा में नगर में शीर्ष पर रहे ओमकारानंद सरस्वती निलायम के छात्र सौरभ रणाकोटी ने बिना ट्यूशन के ही सफलता हासिल की। बकौल सौरभ पढ़ाई में उन्हें बहन ने हमेशा सहयोग किया। पिता मोहनलाल रणाकोटी रीता इंटर कॉलेज गढ़ी श्यामपुर में शिक्षक हैं। वह आगे एमबीबीएस की पढ़ाई के बाद बतौर डॉक्टर समाज की सेवा करना चाहता है। वह प्रतिदिन करीब 4-पांच घंटे पढ़ाई करता रहा है। सौरभ ने अपनी कामयाबी का श्रेय क्लास टीचर दिव्या मैम के अलावा माता, पिता और बहन को दिया। 

 

Todays Beets: