Wednesday, September 19, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

प्रदेश में ईको टूरिज्म से जुड़ेंगे जलागम परियोजना, पलायन पर लगेगी रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
प्रदेश में ईको टूरिज्म से जुड़ेंगे जलागम परियोजना, पलायन पर लगेगी रोक

देहरादून।  राज्य सरकार द्वारा पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ पलायन पर लगाम लगाने की कवायद तेज कर दी गई है। इसके तहत अब राज्य में चलने वाली जलागम प्रबंधन योजनाओं को इको टूरिज्म से जोड़ा जाएगा ताकि इससे रोजगार के अवसर भी पैदा किए जा सकें। राज्य के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने इस बात के निर्देश दिए हैं। यहां बता दें कि इससे पहले केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी राज्य में पर्यटन की असीम संभावनाओं को बढ़ावा देने के लिए झीलों में सी-प्लेन उतारे जाने की बात कह चुके हैं। 

आजीविका बढ़ाने वाले साधनों पर ध्यान

गौरतलब है कि सतपाल महाराज ने राज्य में जल संरक्षण पर आधारित योजनाओं में आधुनिकता को समावेश करने के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने कहा कि जलागम परियोजना के जरिए यहां से होने वाले पलायन को रोकने में काफी मदद मिलेगी। पर्यटन मंत्री ने कहा कि राज्य के लोगों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए कृषि एवं औद्यानिकी विकास, वनीकरण, चारागाह विकास, जल संचय, डेरी, आजीविका पर खास ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने जलागम में क्रय प्रक्रिया, नियुक्ति, प्रतिनियुक्ति में पारदर्शिता रखने और दोषियों के खिलाफ सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए।

ये भी पढ़ें - डोईवाला शुगर मिल घोटाले में पुलिस को मिली कामयाबी, तोल इंचार्ज को किया गिरफ्तार


जनभागीदारी पर जोर

यहां बता दें कि मंत्री ने पिथौरागढ़ के जिलाधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी उत्तरकाशी द्वारा की गई जांच का ब्योरा मांगा। साथ ही पौधरोपण स्थल का विवरण संबंधित विधायक को उपलब्ध कराने को भी कहा, ताकि उनके स्तर से भी सत्यापन कराया जा सके। उन्होंने कहा कि पौधों के विकास में लोगों को भी अपनी भागीदारी निभानी पड़ेगी इसके अभाव की वजह से ही पौधों का विकास नहीं हो रहा है।

 

Todays Beets: