Tuesday, November 20, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

उत्तराखंड पर आने वाले 3 दिन पड़ेंगे भारी, मौसम विभाग ने इन इलाकों में दी भारी बारिश की चेतावनी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड पर आने वाले 3 दिन पड़ेंगे भारी, मौसम विभाग ने इन इलाकों में दी भारी बारिश की चेतावनी

देहरादून। उत्तराखंड में मौसम की तल्खी से फिलहाल लोगों को निजात नहीं मिलने वाली है। मौसम विभाग ने 9 और 10 जुलाई को कुमांऊ मंडल के साथ ही चमोली, पौड़ी और रुद्रप्रयाग के कई इलाकों में भारी बारिश की संभावना जताई है। लोगों को सुरक्षा के दृष्टिकोण से बहुत जरूरी न होने पर घरों से बाहर न निकलने की सलाह दी  गई है। इसके साथ ही 11 जुलाई को भी देहरादून, टिहरी और उत्तरकाशी में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। बता दें कि राज्य पिछले कई दिनों से हो रही भारी बारिश ने आमलोगों के जनजीवन को पूरी तरह से अस्तव्यस्त कर दिया है।

गौरतलब है कि मौसम विभाग ने आने वाले कुछ समय में राज्य के अलग-अलग हिस्सों में भारी बारिश का अनुमान जताया है। पहले से हो रही भारी बारिश से परेशान लोगों की मुसीबतों में नए अलर्ट ने और इजाफा कर दिया है। बता दें कि मौसम विभाग ने 9, 10 औ 11 जुलाई को राज्य के चमोली, पौड़ी और रुद्रप्रयाग के साथ ही देहरादून, टिहरी और उत्तरकाशी में भारी बारिश की आशंका जताई है। 

ये भी पढ़ें - नेपाल घूमने गए अल्मोड़ा के ‘महेश’ के साथ हुआ हादसा, नदी में डूबने के बाद अब तक नहीं मिला कोई सुराग  


यहां बता दें कि चमोली और पिथौरागढ़ मंे लगातार हो रही मूसलाधार बारिश ने काफी नुकसान पहुंचाया है। चमोली के जोशीमठ में भारी बारिश के कारण पहाड़ों से भूस्खलन होने से सड़कों पर यातायात ठप हो गया था। वहीं पिथौरागढ़ में भी पहाड़ों से भूस्खलन होने से लोगों के घरों और दुकानों में मलबा घुस जाने से उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ा है। पहाड़ों से आए मलबे के खेतों में फैल जाने की वजह से फसलों को भी भारी नुकसान हुआ है।  

 

Todays Beets: