Thursday, July 19, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

मौसम का मिजाज खराब करता सकता है आपका ‘वीकेंड’, इन तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मौसम का मिजाज खराब करता सकता है आपका ‘वीकेंड’, इन तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी

देहरादून। अगर आप अपना वीकेंड उत्तराखंड में बिताने की योजना बना रहे हैं तो सावधान हो जाएं। मौसम का तल्ख मिजाज आपकी योजना पर पानी फेर सकता है। मौसम विभाग ने 2 दिनों तक देहरादून, टिहरी, पौड़ी और नैनीताल में भारी बारिश की संभावना जताई है। विभाग ने हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना जताई है। बता दें कि राज्य के कई हिस्सों में हो रही लगातार बारिश ने लोगों की मुसीबतें बढ़ा दी हैं। भूस्खलन की वजह से केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम के दर्शन के लिए जाने वाले यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 

गौरतलब है कि मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि, 16 और 17 जून को राजधानी समेत टिहरी, पौड़ी और नैनीताल जनपदों में भारी बारिश होने की संभावना है। मैदानी इलाकों में हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में भी भारी बारिश हो सकती है। तेज बारिश और पहले धूल भरी आंधी ने भी पर्यटकों को मुश्किलें काफी बढ़ा दी थी। पर्यटक स्थल नैनीताल में प्रदूषण का स्तर इतना बढ़ गया कि सांस तक लेना मुश्किल हो गया है।

ये भी पढ़ें - लोकगायक नरेन्द्र सिंह नेगी की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में कराया गया भर्ती 


यहां बता दें कि बारिश होने से शहरवासियों को धूल से थोड़ी राहत मिली है। वहीं, लोगों के घरों और छतों में बारिश से हवा से नीचे गिरी लाल मिट्टी कौतूहल का विषय बनी रही। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, अगले कुछ दिन बारिश होने से धूल पूरी तरह से खत्म हो जाएगी। गौर करने वाली बात है कि पिछले कुछ समय से हो रही लगातार तेज बारिश की वजह से हुए भूस्खलन के चलते रास्ते बंद हो गए। रास्तों के बंद होने से चारधाम यात्रियों के साथ आम लोगों को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। फिलहाल मौसम विभाग ने लोगों को ज्यादा जरूरी न होने पर घरों से बाहर न निकलने की सलाह दी है। 

Todays Beets: