Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

मौसम का मिजाज खराब करता सकता है आपका ‘वीकेंड’, इन तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मौसम का मिजाज खराब करता सकता है आपका ‘वीकेंड’, इन तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी

देहरादून। अगर आप अपना वीकेंड उत्तराखंड में बिताने की योजना बना रहे हैं तो सावधान हो जाएं। मौसम का तल्ख मिजाज आपकी योजना पर पानी फेर सकता है। मौसम विभाग ने 2 दिनों तक देहरादून, टिहरी, पौड़ी और नैनीताल में भारी बारिश की संभावना जताई है। विभाग ने हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना जताई है। बता दें कि राज्य के कई हिस्सों में हो रही लगातार बारिश ने लोगों की मुसीबतें बढ़ा दी हैं। भूस्खलन की वजह से केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम के दर्शन के लिए जाने वाले यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 

गौरतलब है कि मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि, 16 और 17 जून को राजधानी समेत टिहरी, पौड़ी और नैनीताल जनपदों में भारी बारिश होने की संभावना है। मैदानी इलाकों में हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में भी भारी बारिश हो सकती है। तेज बारिश और पहले धूल भरी आंधी ने भी पर्यटकों को मुश्किलें काफी बढ़ा दी थी। पर्यटक स्थल नैनीताल में प्रदूषण का स्तर इतना बढ़ गया कि सांस तक लेना मुश्किल हो गया है।

ये भी पढ़ें - लोकगायक नरेन्द्र सिंह नेगी की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में कराया गया भर्ती 


यहां बता दें कि बारिश होने से शहरवासियों को धूल से थोड़ी राहत मिली है। वहीं, लोगों के घरों और छतों में बारिश से हवा से नीचे गिरी लाल मिट्टी कौतूहल का विषय बनी रही। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, अगले कुछ दिन बारिश होने से धूल पूरी तरह से खत्म हो जाएगी। गौर करने वाली बात है कि पिछले कुछ समय से हो रही लगातार तेज बारिश की वजह से हुए भूस्खलन के चलते रास्ते बंद हो गए। रास्तों के बंद होने से चारधाम यात्रियों के साथ आम लोगों को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। फिलहाल मौसम विभाग ने लोगों को ज्यादा जरूरी न होने पर घरों से बाहर न निकलने की सलाह दी है। 

Todays Beets: