Saturday, November 25, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

क्या आतंकी बुरहान वानी के भाई की मौत का मुआवजा देकर मुफ्ती सरकार फिर खड़ा कर रही है कोई विवाद ?

अंग्वाल संवाददाता
क्या आतंकी बुरहान वानी के भाई की मौत का मुआवजा देकर मुफ्ती सरकार फिर खड़ा कर रही है कोई विवाद ?

श्रीनगर। आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद घाटी में मचा कोहराम नोटबंदी के बाद कम हो गया है। अपनी बड़ी कार्रवाई में भारतीय सेना ने आतंक को सौदागर बुरहान को मौत के घाट उतारा था। तब सरहद पार बैठे मौत के आतंकियों ने इस ऑपरेशन को भारत की दहशतगर्दी बताकर घाटी में खूब हंगामा कराया था। बहरहाल, आतंकी बुरहान को तो उसके किए की सज़ा मिल गई। मगर अब एक बार फिर वानी परिवार का नाम खबरों की वजह बन रहा है। दरअसल, महबूबा मुफ्ती सरकार ने बुरहान वानी के बड़े भाई खालिद वानी की मुठभेड़ में हुई हत्या के एवज में वानी परिवार को मुआवजा दिए जाने की घोषणा की है। खालिद वानी 13 अप्रैल 2015 को सेना के साथ हुए एक मुठभेड़ में मारा गया था। 

मुफ्ती सरकार की हो रही आलोचना 

खालिद वानी की मौत के बाद मुआवजा देने के मुफ्ती सरकार के फैसले की चारों तरफ आलोचना हो रही है। आपको बता दें कि जो मुआवजा वानी परिवार को दिया जाना है, वह उन आम नागरिकों को मिलता है जो कि आतंकी वारदातों या फिर आतंकवादियों के खिलाफ की गई सैन्य कार्रवाई में अपनी जान गंवाते हैं। गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में पीडीपी और बीजेपी की सरकार है।

सेना का विरोध कर रही सरकार !


महबूबा मुफ्ती की सरकार द्वारा खालिद वानी की मौत के बदले मुआवजा देने की घोषणा करना सीधे तौर पर सेना के रुख का विरोध करता है। सेना ने साफ किया था कि खालिद हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी था और उसकी मौत मुठभेड़ के दौरान हुई थी। आपको बता दें कि किसी भी आतंकवादी या चरमपंथी की मौत के एवज में मुआवजा नहीं दिया जाता। 

कौन था बुरहान वानी ?

बुरहान मुजफ्फर वानी आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन का कमांडर था। वानी कश्मीर में त्राल की अच्छी और संपन्न फैमिली से था। वानी का बड़ा भाई खालिद मुजफ्फर भी आतंकवादी था जो पिछले साल सुरक्षा बलों के हाथों मारा गया था। 

Todays Beets: