Thursday, April 2, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

आज चांद को देखना न भूल जाएं, माघ पूर्णिमा पर सुपर स्नो मून का आकार और चमक होगी कई ज्यादा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आज चांद को देखना न भूल जाएं, माघ पूर्णिमा पर सुपर स्नो मून का आकार और चमक होगी कई ज्यादा

नई दिल्ली । आज रात चांद को जरूर देखिएगा , क्योंकि आज आकाश में साल का सबसे बड़ा और बेहद खूबसूरत नजर आएगा। वैज्ञानिकों का कहना है कि आज चांद का यह स्वरूप मात्र पूर्णिमा की चलते नहीं बल्कि एक खास खगोलीय घटना के चलते नजर आएगा। वैसे आज माघ पूर्णिमा और मंगलवार को इस पूर्णिमा एक खास खगोलीय घटना के लिहाज से अहम है। वैज्ञानिकों की मानें तो आज आकाश में चांद का जो नजारा नजर आएगा, वह इसके बाद 2555 दिनों बाद दिखेगा। ऐसे में आज अंधेरा होने पर चांद का दीदार जरूर करें। क्योंकि ऐसा नहीं किया तो अगले सुपर स्नो मून का नजारा करीब सात साल दिसंबर 2026 में दिखेगा।

वैज्ञानिकों के अनुसार, माघ पूर्णिमा इस बार एक खगोलीय घटना के लिए अहम है। मंगलवार को आकाश में चांद जिस स्वरूप में नजर आएगा , उसे सुपर स्नो मून (Super Snow Moon) कहते हैं। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अनुसार सुपर स्नो मून तब होता है, जब पूर्णिमा के दिन चांद-धरती के सबसे नजदीक होता है। इस वजह से इसका आकार और रोशनी आम पूर्णिमा के चांद के मुकाबले काफी ज्यादा होता है। इस दौरान चांद ज्यादा चमकीला और बड़ा दिखाई देता है। इसलिए इस खगोलीय घटना को सुपर स्नो मून कहा जाता है।


इस दौरान चांद अपने सामान्य आकार से लगभग 14 फीसद बड़ा और 30 प्रतिशत ज्यादा चमकीला दिखेगा। वैज्ञानिकों के अनुसार चांद के पूरे आकार और रोशनी को देखने के लिए दूरबीन या टेलिस्कोप की मदद ली जा सकती है।

भारत समेत ये सुपर स्नो मून दुनिया के कई देशों में दिखेगा। सुपर स्नो मून का समय आज रात नौ बजकर 23 मिनट से शुरू होगा। सुपर स्नो मून का समय रात 11 बजकर 23 मिनट तक बताया जा रहा है। 

Todays Beets: