Saturday, January 16, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

आज चांद को देखना न भूल जाएं, माघ पूर्णिमा पर सुपर स्नो मून का आकार और चमक होगी कई ज्यादा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आज चांद को देखना न भूल जाएं, माघ पूर्णिमा पर सुपर स्नो मून का आकार और चमक होगी कई ज्यादा

नई दिल्ली । आज रात चांद को जरूर देखिएगा , क्योंकि आज आकाश में साल का सबसे बड़ा और बेहद खूबसूरत नजर आएगा। वैज्ञानिकों का कहना है कि आज चांद का यह स्वरूप मात्र पूर्णिमा की चलते नहीं बल्कि एक खास खगोलीय घटना के चलते नजर आएगा। वैसे आज माघ पूर्णिमा और मंगलवार को इस पूर्णिमा एक खास खगोलीय घटना के लिहाज से अहम है। वैज्ञानिकों की मानें तो आज आकाश में चांद का जो नजारा नजर आएगा, वह इसके बाद 2555 दिनों बाद दिखेगा। ऐसे में आज अंधेरा होने पर चांद का दीदार जरूर करें। क्योंकि ऐसा नहीं किया तो अगले सुपर स्नो मून का नजारा करीब सात साल दिसंबर 2026 में दिखेगा।

वैज्ञानिकों के अनुसार, माघ पूर्णिमा इस बार एक खगोलीय घटना के लिए अहम है। मंगलवार को आकाश में चांद जिस स्वरूप में नजर आएगा , उसे सुपर स्नो मून (Super Snow Moon) कहते हैं। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अनुसार सुपर स्नो मून तब होता है, जब पूर्णिमा के दिन चांद-धरती के सबसे नजदीक होता है। इस वजह से इसका आकार और रोशनी आम पूर्णिमा के चांद के मुकाबले काफी ज्यादा होता है। इस दौरान चांद ज्यादा चमकीला और बड़ा दिखाई देता है। इसलिए इस खगोलीय घटना को सुपर स्नो मून कहा जाता है।


इस दौरान चांद अपने सामान्य आकार से लगभग 14 फीसद बड़ा और 30 प्रतिशत ज्यादा चमकीला दिखेगा। वैज्ञानिकों के अनुसार चांद के पूरे आकार और रोशनी को देखने के लिए दूरबीन या टेलिस्कोप की मदद ली जा सकती है।

भारत समेत ये सुपर स्नो मून दुनिया के कई देशों में दिखेगा। सुपर स्नो मून का समय आज रात नौ बजकर 23 मिनट से शुरू होगा। सुपर स्नो मून का समय रात 11 बजकर 23 मिनट तक बताया जा रहा है। 

Todays Beets: