Thursday, April 2, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

मुफ्त वाई-फाई की मदद से ‘कुली’ ने पास की सिविल सेवा परीक्षा, तीसरे प्रयास में मिली सफलता

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मुफ्त वाई-फाई की मदद से ‘कुली’ ने पास की सिविल सेवा परीक्षा, तीसरे प्रयास में मिली सफलता

नई दिल्ली। ‘‘कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारो’’। यह कहावत तो आपने जरूरी सुनी होगी और यह पूरी तरह से फिट बैठती है कि केरल में स्टेशन पर कुली का काम करने वाले श्रीनाथ के. पर। श्रीनाथ ने स्टेशन के मुफ्त वाई-फाई की मदद से सिविल सेवा परीक्षा की लिखित परीक्षा पास की है। श्रीनाथ केरल के एर्नाकुलम स्टेशन पर पिछले 5 सालों से कुली का काम कर रहे हैं। श्रीनाथ के मन में एक बड़ा अधिकारी बनने का सपना तो था लेकिन सुविधाओं की कमी के चलते यह संभव नहीं हो पा रहा था। उन्होंने स्टेशन पर उपलब्ध मुफ्त वाईफाई सुविधा के सहारे इंटरनेट के जरिए पढ़ाई की और अपने तीसरे प्रयास में केरल पब्लिक सर्विस कमीशन (केपीएससी) की लिखित परीक्षा पास की। 

ये भी पढ़ें - यूपी का यह ‘लाल’ है रियल लाइफ का ‘बजरंगी भाईजान’, जेल में बंद बेटे को मिलाया मां-बाप से


बड़ी बात यह रही है कि श्रीनाथ पढ़ाई के लिए किताबों में ही डूबे नहीं रहे बलिक अपना काम करते हुए उन्होंने अपने स्मार्टफोन और ईयरफोन के जरिए पढ़ाई करते रहे। अब अगर श्रीनाथ साक्षात्कार में सफल हो जाते हैं तो वह भूमि राजस्व विभाग के तहत विलेज फील्ड असिस्टेंट के पद पर नियुक्त हो जाएंगे। गौरतलब है कि पिछले 5 सालों से कुली का काम कर रहे श्रीनाथ का यह तीसरा प्रयास था। उनका कहना है कि यह पहला मौका था, जब उन्होंने स्टेशन पर उपलब्ध वाईफाई सुविधा का इस्तेमाल किया। 

उन्होंने ये भी बताया कि कुली का काम करने के दौरान वे हमेशा ईयरफोन कान में लगाए रखते थे और इंटरनेट पर अपने संबंधित विषयों पर लेक्चर सुना करते थे। उसे मन ही मन दोहराते भी रहते थे और रात को मौका मिलते ही फिर रिवाइज कर लेते थे। इसी वाईफाई की मदद से उन्होंने ऑनलाइन अपना परीक्षा फार्म भरा और देश दुनिया की ताजा जानकारियों से खुद को अपडेट किया साथ ही अपने विषयों की जमकर तैयारी की। अब आगे वह दूसरी प्रशासनिक परीक्षाओं के बारे में भी सोच रहे हैं।

Todays Beets: