Saturday, July 20, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

मुफ्त वाई-फाई की मदद से ‘कुली’ ने पास की सिविल सेवा परीक्षा, तीसरे प्रयास में मिली सफलता

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मुफ्त वाई-फाई की मदद से ‘कुली’ ने पास की सिविल सेवा परीक्षा, तीसरे प्रयास में मिली सफलता

नई दिल्ली। ‘‘कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारो’’। यह कहावत तो आपने जरूरी सुनी होगी और यह पूरी तरह से फिट बैठती है कि केरल में स्टेशन पर कुली का काम करने वाले श्रीनाथ के. पर। श्रीनाथ ने स्टेशन के मुफ्त वाई-फाई की मदद से सिविल सेवा परीक्षा की लिखित परीक्षा पास की है। श्रीनाथ केरल के एर्नाकुलम स्टेशन पर पिछले 5 सालों से कुली का काम कर रहे हैं। श्रीनाथ के मन में एक बड़ा अधिकारी बनने का सपना तो था लेकिन सुविधाओं की कमी के चलते यह संभव नहीं हो पा रहा था। उन्होंने स्टेशन पर उपलब्ध मुफ्त वाईफाई सुविधा के सहारे इंटरनेट के जरिए पढ़ाई की और अपने तीसरे प्रयास में केरल पब्लिक सर्विस कमीशन (केपीएससी) की लिखित परीक्षा पास की। 

ये भी पढ़ें - यूपी का यह ‘लाल’ है रियल लाइफ का ‘बजरंगी भाईजान’, जेल में बंद बेटे को मिलाया मां-बाप से


बड़ी बात यह रही है कि श्रीनाथ पढ़ाई के लिए किताबों में ही डूबे नहीं रहे बलिक अपना काम करते हुए उन्होंने अपने स्मार्टफोन और ईयरफोन के जरिए पढ़ाई करते रहे। अब अगर श्रीनाथ साक्षात्कार में सफल हो जाते हैं तो वह भूमि राजस्व विभाग के तहत विलेज फील्ड असिस्टेंट के पद पर नियुक्त हो जाएंगे। गौरतलब है कि पिछले 5 सालों से कुली का काम कर रहे श्रीनाथ का यह तीसरा प्रयास था। उनका कहना है कि यह पहला मौका था, जब उन्होंने स्टेशन पर उपलब्ध वाईफाई सुविधा का इस्तेमाल किया। 

उन्होंने ये भी बताया कि कुली का काम करने के दौरान वे हमेशा ईयरफोन कान में लगाए रखते थे और इंटरनेट पर अपने संबंधित विषयों पर लेक्चर सुना करते थे। उसे मन ही मन दोहराते भी रहते थे और रात को मौका मिलते ही फिर रिवाइज कर लेते थे। इसी वाईफाई की मदद से उन्होंने ऑनलाइन अपना परीक्षा फार्म भरा और देश दुनिया की ताजा जानकारियों से खुद को अपडेट किया साथ ही अपने विषयों की जमकर तैयारी की। अब आगे वह दूसरी प्रशासनिक परीक्षाओं के बारे में भी सोच रहे हैं।

Todays Beets: