Thursday, April 2, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

अलीगढ़ में मातम हुआ ‘खुशियों में तब्दील’, मौत के कुछ ही घंटे बाद जीवित हुआ रामकिशोर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अलीगढ़ में मातम हुआ ‘खुशियों में तब्दील’, मौत के कुछ ही घंटे बाद जीवित हुआ रामकिशोर

अलीगढ़। ऐसा तो अक्सर ही सुना जाता है कि किसी भी घर में खुशियां मातम में तब्दील हो गई लेकिन क्या आपने कभी ऐसा सुना है कि किसी घर में पसरा मातम खुशियों में तब्दील हो गई। जी हां, उत्तरप्रदेश के अलीगढ़ के किरथल इलाके में ऐसा हुआ है जहां मौत के कुछ ही घंटे के जब उसके अंतिम संस्कार की तैयारी की जा रही थी वह जीवित हो उठा। पहले तो सभी डर गए लेकिन जब उसने सबका नाम पुकारने शुरू किया तो घर वालों में खुशी की लहर दौड़ गई। पुनर्जीवित होने के बाद जो बातें उसने सुनाई उसे सुनकर सभी हैरान हो गए।

गौरलतब है कि अलीगढ़ के किरथल गांव में रहने वाले रामकिशोर नाम के व्यक्ति की मौत हो गई थी। उसकी मौत के बाद घर परिवार में मातम का माहौल था, सभी सगे-संबंधी परिजनों को ढांढ़स बंधाने के लिए पहुंच गए। इस बीच उसके अंतिम संस्कार की तैयारी भी शुरू कर दी गई। इन तैयारियों के बीच रामकिशोर के शरीर में हरकत होने लगी। यह देखकर वहां मौजूद सभी लोग घबरा गए लेकिन जब उसने सभी लोगों के नाम पुकारने शुरू किए तो वहां खुशी की लहर दौड़ गई। जब उससे पूछा गया तो उसने बताया ‘गलती से ले गए थे, वापस भेज दिया।’


ये भी पढ़ें - महिला पायलट की दिलेरी ने बचाई सैकड़ों यात्रियों की जान, 32 हजार फीट की ऊंचाई पर इंजन में हुआ धमाका 

यहां बता दें कि रामकिशोर के पुनर्जीवित होने पर उसने जो कहानी सुनाई उसे सुनकर सभी हैरान रह गए। रामकिशोर ने बताया कि उसे ज्यादा कुछ याद नहीं है लेकिन कुछ दाढ़ी वाले महात्मा एक बड़े दाढ़ी वाले महात्मा को अपना-अपना पक्ष बता रहे थे। इसी बीच उन्होंने पूछा इसे क्यों ले आए हो, जरा देखो, बस एक आवाज और आई इसे क्यों ले आए, अभी वक्त है। इतना सुनने के बाद ही लगा कि किसी ने धक्का दे दिया और जब आंख खुली तो परिवार को बिलखते हुए देखा। इस दरम्यान दिखने वाले न तो किसी का चेहरा ध्यान है और न इसके सिवाए और कुछ बात याद है।

Todays Beets: