Thursday, October 22, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

बिहार चुनाव पर सियासी दलों के बीच ''पोस्टर वॉर'' , राजद पर दिया ''बिहार पर भार'' करार

अंग्वाल न्यूज डेस्क

बिहार चुनाव पर सियासी दलों के बीच

पटना । बिहार विधानसभा चुनावों के सियासी समीकरण बनने बिगड़ने के बीच राज्य में इन दिनों जुबानी जंग से पहले राजनीतिक दलों के बीच पोस्टर वार जारी है । पटना की सड़कों पर लगे होर्डिंग पर शनिवार को राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के परिवार पर तीखा राजनीतिक प्रहार नजर आया । पोस्टर में लिखा गया था -'एक ऐसा परिवार, जो बिहार पर है भार' . पोस्टरों में राजद (RJD) प्रमुख लालू प्रसाद यादव को कैदी दिखाया गया है । वहीं इस पोस्टर में उनके बेटे तेजस्वी और तेजप्रताप यादव की फोटो लगाकर दोनों को विधायक बताया गया है । वहीं इस पोस्टर में राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री और लालू की पत्नी राबड़ी देवी भी बैं , जिनकी फोटो के साथ विधानपार्षद और लालू की बेटी मीसा भारती की तस्वीर पर राज्यसभा सांसद लिखा गया है ।

विदित हो कि इन दिनों बिहार की सड़कों पर पोस्टर बार जारी है । जहां इन पोस्टरों के माध्यम से नीतीश कुमार की सरकार पर तंज कसा जा रहा है , वहीं नीतीश कुमार पर भी व्यक्तिगत हमले किए जा रहे हैं । 


 

अगर पोस्टरों की बात करें तो सड़क पर एक पोस्टर दिखा , जिसपर लिखा गया था '' क्यों करें विचार ....ठीक ही तो हैं नीतीश कुमार'' । तो इस पोस्टर के जवाब में उनके पास ही एक अन्य पोस्टर में लिखा गया है '' क्यों न करें विचार , बिहार जो है बीमार''इस तरह से विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान होने से पहले राज्य में सियासी दलों के बीच पोस्टर वार तेज हो गया है । इसी क्रम में लालू के परिवार पर हमला करता हुआ नया पोस्टर पटना में सुर्खियों का कारण बना हुआ है । अभी तक यह तो साफ नहीं हुआ है कि यह पोस्टर किसने लगवाया है , लेकिन ऐसा कहा जा रहा है कि इसे जदयू की ओर से ही लगवाया गया है । 

हालांकि इस पोस्टर में जहां लालू को कैदी दिखाया गया है , उसके बाद से अभी तक राजद की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है , लेकिन यह बात तो साफ है कि आने वाले दिनों में यह पोस्टर वार जुबानी जंग में तब्दील हो जाएगा । इसके बाद राजनेता एक दूसरे पर व्यक्तिगत आरोप प्रत्यारोप लगाने भी नजर आएंगे । 

Todays Beets: