Wednesday, September 30, 2020

Breaking News

   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||   अभिनेत्री कंगना रनौत-बीएमसी मामले में सुनवाई स्थगित     ||   सुशांत केस - जांच में देरी पर CBI बोली - हम हर एंगल की बारीकी और प्रोफेशनल तरीके से कर रहे हैं जांच    ||   कप्तान धोनी ने IPL2020 की शुरुआत जीत से की,जानिये कैसे ?     ||   लखनऊ: यूपी में आकाशीय बिजली से हुई मौत के मामले में परिजनों को 4 लाख मुआवजा     ||   कोरोना काल में भाजपा सरकार ने अनेक ख्याली पुलाव पकाए, लेकिन एक सच भी था? -राहुल गांधी     ||

भाजपा गुजरात की राज्यसभा सीट जीतने के लिए गंदी और औंछी ट्रिक अपना रही - कांग्रेस

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भाजपा गुजरात की राज्यसभा सीट जीतने के लिए गंदी और औंछी ट्रिक अपना रही - कांग्रेस

नई दिल्ली । कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार के घर बुधवार को हुई आयकर विभाग की छापेमारी का कांग्रेस ने जमकर विरोध किया है। कांग्रेसी नेताओं का कहना है कि भाजपा गुजरात की राज्यसभा सीट को जीतने के लिए हम गंदी और बदसूरत ट्रिक को अपना रही है। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि कर्नाटक के मंत्री के ठिकानों के साथ उनके रिसॉर्ट्स में ठहरे कांग्रेसी विधायकों के कमरों पर भी छापा मारा गया। इस मुद्दे को कांग्रेस ने छापेमारी की खबरों के बाद संसद को दोनों सदनों में जोरशोर से उठाया, जिसपर सरकार ने छापेमारी को लेकर अपना बयान भी दिया। कर्नाटक के मंत्री के ठिकानों पर छापेमारी की इस घटना को कांग्रेसी नेता रणदीप सुरजेवाला ने राजनीति साजिश करार दिया। 

ये भी पढ़ें- बेंगलुरु में कांग्रेस के 44 विधायकों को अपने रिसॉर्ट्स में रखने वाले मंत्री डीके शिवकुमार के ठिकानों पर छापेमारी...

बता दें कि बुधवार सुबह आयकर विभाग की टीमों ने कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार के 39 ठिकानों पर छापेमारी की है। इस दौरान आईटी विभाग ने दावा किया है कि उनके ठिकानों से 5 करोड़ रुपये बरामद किए गए हैं। हालांकि पहले खबर ये भी उड़ी की गुजरात कांग्रेस के जिन 44 विधायकों को शिवकुमार के जिस रिसॉर्ट्स में ठहराया गया है, आईटी विभाग ने वहां भी छापेमारी की, लेकिन बाद में सरकार ने साफ किया कि छापेमारी की कार्रवाई सिर्फ 39 ठिकानों पर की गई है, इसमें उनका रिसॉर्टस शामिल नहीं है। यहां ये बता दें कि गुजरात कांग्रेस के 44 विधायकों को पार्टी आलाकमान ने गुजरात की राज्यसभा सीट के चुनाव के मद्देनजर यहां लाकर रखा गया है ताकि वह भाजपा में शामिल न हो जाएं। इससे पहले भाजपा के 6 विधायक भाजपा में शामिल हो गए थे, जिससे इस सीट पर कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल की दावेदारी खतरे में पड़ गई। 

ये भी पढ़ें- उपराष्ट्रपति चुनाव में गोपालकृष्ण गांधी का समर्थन करेगी आम आदमी पार्टी

बहरहाल इस पूरे घटनाक्रम पर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा गुजरात की राज्यसभा सीट जीतने के लिए सभी तरह के गंदे और बदसूरत काम करने पर उतारू हो गई है। भाजपा गुजरात कांग्रेस के विधायकों को किसी ही हद में जाकर अपनी ओर करना चाहते हैं, लेकिन ऐसा नहीं हो पाने पर वह अब इस तरह की औंछी हरकतों पर आ गई है। आयकर विभाग की इस छापेमारी के जरिए भाजपा ने लोकतंत्र की हत्या की है। 

ये भी पढ़ें- अय्याश था लश्कर कमांडर अबु दुजाना, लड़कियों के लिए बन गया था खतरा


वहीं इस मामले में कांग्रेसी नेता संदीप दीक्षित ने कहा कि यह पूरी तरह से लोकतंत्र की हत्या है। ये लोग (आईटी विभाग) इस तरह काम कर रहे हैं जैसे ये अमित शाह के निजी नौकर हों। वहीं पीएल पूनिया ने कहा कि यह सब दिखाता है कि आखिर भाजपा गुजरात की राज्यसभा सीट को पाने के लिए किस तरह की राजनीति को अंजाम दे रही है।

ये भी पढ़ें- टेरर फंडिंग मामला : एनआईए ने गिलानी के बेटे को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया

हालांकि इस पूरे घटनाक्रम को लेकर सदन में वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि जिस तरह रिसॉर्ट्स पर भी छापेमारी की खबरे आ रही है वह पूरी तरह गलत हैं। आयकर विभाग ने रिसॉर्टस मे छापेमारी नहीं की। छापेमारी की इस पूरी घटना का राज्यसभा चुनवों से कोई लेना देना नहीं है।

 

 

 

Todays Beets: