Friday, April 23, 2021

Breaking News

   कोरोनाः यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को लगाई गई वैक्सीन     ||   महाराष्ट्रः वसूली केस की होगी सीबीआई जांच, फडणवीस बोले- अनिल देशमुख दें इस्तीफा     ||   ड्रग्स केस में गिरफ्तार अभिनेता एजाज खान कोरोना पॉजिटिव, NCB टीम का भी होगा टेस्ट     ||   मथुराः लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार कटियार बने वन स्ट्राइक कोर के कमांडर     ||   कर्नाटकः भ्रष्टाचार के मामले की जांच पर स्टे, सीएम येदियुरप्पा को SC ने दी राहत     ||   छत्तीसगढ़ः नक्सल के खिलाफ लड़ाई अब निर्णायक चरण में, हमारी जीत निश्चित है- अमित शाह     ||   यूपीः पंचायत चुनाव में 5 से अधिक लोगों के साथ प्रचार करने पर रोक, कोरोना के कारण फैसला     ||   स्विटजरलैंड में चेहरा ढकने पर लगाई गई पाबंदी , मुस्लिम संगठनों ने जताई आपत्ति     ||   सिंघु बॉर्डर के नजदीक अज्ञात लोगों ने रविवार रात की हवाई फायरिंग, पुलिस कर रही छानबीन     ||   जम्मू कश्मीर - प्रोफेसर अब्दुल बरी नाइक को पुलिस ने किया गिरफ्तार, युवाओं को बरगलाने का आरोप     ||

नीतीश कुमार ने सदन में साबित किया बहुमत, पक्ष में पड़े 131 वोट विपक्ष में 108

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नीतीश कुमार ने सदन में साबित किया बहुमत, पक्ष में पड़े 131 वोट विपक्ष में 108

पटना। बिहार की राजनीति में भूचाल लाने वाले सीएम नीतीश कुमार ने शुक्रवार को भारी हंगामे के बीच सदन में विश्वास मत जीत लिया है। सदन में नीतीश कुमार के पक्ष में 131 विधायकों ने साइन किए, जबकि राजद, कांग्रेस और सीपीआई के विधायकों समेत 108 विधायकों ने साइन किए। इस दौरान सामने आया है किसी सदन मेंं किसी प्रकार की क्रॉस वोटिंग नहीं हुई। वहीं, बताया जा रहा है कि राज्य में नए मंत्रीमंडल के लिए सीएम नीतीश कुमार दिल्ली आ रहे हैं, जहां एक बार फिर नेताओं को मंत्री पद दिए जाने पर मंत्रणा होगी।

वहीं विश्वास मत से पहले तेजस्वी यादव ने नीतीश पर जमकर हमला बोला. जवाब में नीतीश कुमार ने कहा कि ये कांग्रेस के लोग हैं अहंकार में जीने वाले लोग हैं। नीतीश ने कहा कि 15 से ज्यादा सीटें कांग्रेस को नहीं मिलने वाली थी लेकिन हमने महागठबंधन में 40 सीटों पर चुनाव लड़वाया। विश्वास मत से पहले राजद विधायक लगातार हंगामा कर रहे हैं. राजद विधायकों ने विधानसभा के बाहर धरना भी दिया। तेजस्वी ने पहले बोलते हुए नीतीश कुमार पर काफी तीखे आरोप लगाए थे। 


पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि मैं इस प्रस्ताव के विरोध में खड़ा हूं। हमें भाजपा के खिलाफ वोट मिला था, ये सब  पूर्वनियोजित था, ये एक तरह से लोकतंत्र की हत्या है, भाजपा के भी कई मंत्री हैं जिनपर आरोप हैं, नीतीश कुमार और सुशील मोदी पर भी आरोप हैं। तेजस्वी ने कहा कि कांग्रेस और राजद ने मिलकर नीतीश कुमार के वजूद को बचाया था, नीतीश ने बिहार की जनता को धोखा दिया।

Todays Beets: