Thursday, June 27, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

इग्नू शुरू करने जा रहा है रोजगारपरक कोर्स, जानें कहां और कैसे ले सकते हैं दाखिला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
इग्नू शुरू करने जा रहा है रोजगारपरक कोर्स, जानें कहां और कैसे ले सकते हैं दाखिला

नई दिल्ली। इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (इग्नू) ने एक नए पीजी कोर्स की शुरुआत की है। इग्नू के स्कूल आॅफ हेल्थ साइंस ने जुलाई 2018 से एक्यूपंक्चर (पीजीसीएसीपी) में पीजी सर्टिफिकेट प्रोग्राम लॉन्च किया है। एक्यूपंक्चर चिकित्सा की एक नई पद्धति है जो रोगियों की पुरानी बीमारी को ठीक करने के काम आएगी। इस कोर्स को ऑफलाइन ओपन एंड डिस्टेंस लर्निंग (ओडीएल) मोड और हार्ड कॉपी के रूप में छात्रों के सामने पेश किया जाएगा।

किन लोगों के लिए उपलब्ध है ये कोर्स

यहां यह जानना जरूरी है कि कौन लोग इस कोर्स को कर सकते हैं। भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार जिन छात्रों ने एलोपैथी, आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध, होम्योपैथी, दंत चिकित्सा और फिजियोथेरेपी से स्नातक कर लिया है वहीं इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। 

मुख्य जानकारी

- आवेदन पत्र IGNOU की ऑफिशियल वेबसाइट ignou.ac.in पर उपलब्ध हैं।

- आवेदन करने की अंतिम तिथि 16 अगस्त है।

- वैसे तो नया सत्र जुलाई 2018 से शुरू होता है पर जो स्टूडेंट्स अभी यह कोर्स नहीं कर सकते वे जनवरी 2019 में नए सत्र में कर सकते हैं।

- यह कोर्स भारत के चुने हुए 9 केंद्रों में पेश किया जाएगा। 

- दिल्ली, हुबली (कर्नाटक), 

-नासिक (महाराष्ट्र), 


-इंदौर (मध्य प्रदेश), 

-कोटा (राजस्थान), 

-चेन्नई (तमिलनाडु), 

-राउरकेला (उड़ीसा), 

-लुधियाना (पंजाब) और 

-कोलकाता (पश्चिम बंगाल)।

छात्रों को इन केंद्रों में से किसी एक को चुनना होगा।

 

 

Todays Beets: