Saturday, January 18, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

अब प्रतियोगी परीक्षाओं में नकल पर लगेगी लगाम, 2020 में कंप्यूटर आधारित होगी नीट परीक्षा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब प्रतियोगी परीक्षाओं में नकल पर लगेगी लगाम, 2020 में कंप्यूटर आधारित होगी नीट परीक्षा

नई दिल्ली। प्रतियोगी परीक्षाओं में नकल को रोकने और परीक्षा को पूरी तरह से पारदर्शी बनाने के मकसद से विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने एक बड़ा फैसला लिया है। यूजीसी नेट की पहली कंप्यूटर आधारित परीक्षा सफल रहने के बाद अब मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट 2020 में कागज और कलम के बजाय कंप्यूटर आधारित होगी। बता दें कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने जेईई मेन परीक्षा के 8 जनवरी से शुरू हो रहे पहले राउंड की तैयारी पूरी कर ली है। परीक्षा में करीब साढ़े 9 लाख छात्रों के भाग लेने की उम्मीद है। 

गौरतलब है कि मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडे़कर ने कहा कि यूजीसी नेट परीक्षा आॅनलाइन कराना नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की सबसे बड़ी सफलता है। बता दें कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने 300 शहरों में 600 सेटरों पर बिना इंटरनेट सफल परीक्षा का आयोजन करवाई गई है। इस सफलता के बाद अब नीट परीक्षा को भी कंप्यूटर आधारित किया जा सकता है। कंप्यूटर आधारित होने से हाईटेक नकल पर लगाम लगेगी वहीं छात्रों को सवाल हल करने में भी आसानी होगी। 

ये भी पढ़ें - LIVE: सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में भाजपा का कांग्रेस पर तीखा हमला, कहा- कांग्रेस के षड्यंत...


यहां बता दें कि पिछले साल कई प्रतियोगी परीक्षाओं में हाईटेक नकल की खबरें सामने आई थी। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि जेईई मेन परीक्षा का पहला चरण 8 से 12 जनवरी और दूसरा 6 से 12 अप्रैल तक चलेगा। छात्र दोनों परीक्षा में भाग ले सकते हैं, जिसमें से बेस्ट स्कोर आगे दाखिले में जुड़ेगा। एक अनिवार्य पेपर 10 शिफ्टों में आयोजित किया जाएगा इसमें 40 हजार जैमर लगेंगे जो हाईटेक नकल पर रोक लगेगी। 

 

Todays Beets: