Thursday, June 27, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

यूपीएससी ने छात्रों को दी बड़ी राहत, अब नाम वापस ले सकेंगे अभ्यर्थी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूपीएससी ने छात्रों को दी बड़ी राहत, अब नाम वापस ले सकेंगे अभ्यर्थी

नई दिल्ली।  सिविल सेवा परीक्षा में सफल होना बहुत से युवाओं का सपना होता है और इसके लिए बड़ी संख्या में आवेदन भी किए जाते हैं। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की ओर से किए गए एक सर्वे में इस बात का पता चला है कि आवेदन करने वालों में से मात्र 50 फीसदी छात्र ही परीक्षा में बैठते हैं। ऐसे में अब यूपीएससी की ओर से छात्रों को नाम वापस लेने की सुविधा दी जा रही है। यूपीएससी की ओर से कहा गया है कि यह व्यवस्था इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा, 2019 से शुरू होगी।

गौरतलब है कि एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए संघ लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष अरविंद सक्सेना ने कहा कि आयोग ने इस बात का अनुभव किया है कि प्रारंभिक परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले लाखों उम्मीदवारों में से मात्र 50 फीसदी युवा ही परीक्षा में शामिल होते हैं। ऐसे में आयोग के द्वारा किए गए इंतजाम बेकार हो जाते हैं। आवेदन करने के बाद अगर परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल नहीं होना चहते हैं तो वे अपना नाम वापस ले सकते हैं। 

ये भी पढ़ें - आॅनलाइन गेम्स को लेकर सीबीएसई सतर्क, स्कूलों के लिए जारी की एडवाइजरी


यहां बता दें कि यूपीएससी की ओर से हर साल तीन चरणों में प्रारंभिक, मुख्य और साक्षात्कार - में सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन किया जाता है। इसके जरिए भारतीय प्रशासनिक सेवा(आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) और भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) समेत दूसरी अखिल भारतीय सेवाओं के लिये अधिकारियों का चयन किया जाता है। परीक्षा से नाम वापस लेने वाले अभ्यर्थियों को अपने आवदेन का विवरण देना होगा। 

          

Todays Beets: