Saturday, December 5, 2020

दशहरे पर अगर ये चीजें दिखें तो समझो पलटने वाली है किस्मत , कष्ट होंगे दूर मुरादें होंगी पूरी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दशहरे पर अगर ये चीजें दिखें तो समझो पलटने वाली है किस्मत , कष्ट होंगे दूर मुरादें होंगी पूरी

नई दिल्ली । नवरात्रों के समापन के साथ ही इस बार रविवार यानी 25 अक्तूबर को विजयदशमी यानी दशहरा मनाया जा रहा है । यह त्योहार बुराई पर अच्छाई की जीत के तौर पर सदियों से मनाया जाता है । इस बार कोरोना काल में लोगों को उम्मीद है कि एक बार फिर से कोरोना जैसी बुराई का नाश होगा और देश दुनिया में लोगों को स्वस्थ तन मन का आशीर्वाद प्राप्त होगा । हालांकि हिंदू धर्म और ज्योतिषविदों की इस दिन को लेकर कुछ अलग मान्यताएं भी हैं । इनके अनुसार , इस दिन विशेष पर जातक को कुछ खास चीजें नजर आ जाएं तो ऐसी स्थिति उनके लिए बहुत शुभ मानी जाती है ।

नीलकंठ पक्षी के दर्शन 

ज्योतिष के जानकारों का ऐसा मानना है कि विजयदशमी के दिन अगर किसी जातक को नीलकंठ पक्षी नजर आ जाए , तो यह उसके लिए अच्छे दिनों के संकेत हो सकते हैं ।  

नीलकंठ पक्षी को भगवान शिव का ही रूप माना जाता है । दशहरे के मौके पर नीलकंठ पक्षी का दिखना अच्छे समय की शुरुआत आने का संकेत है । भगवान राम ने इस पक्षी को देखने के बाद ही रावण को पराजित किया था ।

हनुमानजी की कृपा पाने के लिए अर्पित करें उनकी प्रिय वस्तुएं , जानें क्या हैं ये छोटे-छोटे उपाय

मछली को तैरते हुए देखना

इसी क्रम में दशहरे वाले दिन तैरती हुई मछली के दर्शन होना भी शुभ माना जाता है ।

अगर किसी नदी या तालाब के नजदीक से गुजरते हुए आपको पानी में तैरती मछलियां नजर आ जाएं तो समझ लीजिए आपका भाग्य चमकने वाला है । ज्योतिषों का कहना है कि एक ऐसा होता है तो जातक के आने वाले समय के कष्ट दूर होने वाले हैं । 

 

हनुमानजी के इन 12 नामों में से करें किसी का भी जाप , पवनपुत्र हरेंगे आपके कष्ट, जानें ये नाम

 

अपनी कुलदेवी-देवता के दर्शन

ऐसा भी कहा जाता है कि इस दिन अपनी कुल देवी और कुलदेवता के दर्शन करना भी बहुत फलदायी होता है ।

अपनी कुलदेवी और कुलदेवता की पूजा से आपके कष्ट कम होते हैं । इसके अलावा इस दिन अगर आप किसी यात्रा पर हैं तो भगवान के मंदिर में देव दर्शन करना भी इस दिन शुभ माना गया है । आप भगवान राम या शिव के दर्शन करके भी लाभ पा सकते हैं । 


पान खाना भी लाभदायी

इसी क्रम में दशहरे वाले दिन पान का भी अपना महत्व है । ऐसी मान्यता है कि इस दिन श्रीराम भक्त हनुमान को पान चढ़ाने से मन की मुरादें पूरी होती हैं ।

दरअसल पान को विजय का सूचक माना गया है । पान का बीड़ा शब्द का एक महत्व यह भी है इस दिन हम सन्मार्ग पर चलने का संकल्प लेते हैं । ऐसे में इस दिन विशेष पर हनुमानजी को पान चढ़ाने से आपके कष्ट हर लिए जाएंगे और आपकी मुरादें भी पूरी होंगी । 

 

क्या आप जानते हैं कि इस दिन कुछ ऐसे कार्य भी हैं , जिन्हें करना बहुत ही शुभ माना जाता है तो चलिए जानते हैं उन कार्यों के बारे में जो दशहरे के दिन करना बहुत शुभ माना जाता है। 

- दशहरे के दिन अपनी क्षमता के अनुसार सोना,चांदी,वाहन,कपड़े और बर्तन खरीदना बहुत ही शुभ माना जाता है। 

- इस दिन सुबह के समय वाहन,शस्त्र,अपराजिता और शमी वृक्ष का पूजन करना भी बहुत शुभ माना जाता है। 

- दशहरे पर खासतौर पर गिल्की के पकौड़े और गुलगुले बनाने का प्रचलन है। परिवार के लोगों के साथ मिल बांटकर खाते हैं। 

- इस दिन रावण दहन के बाद पान और जलेबी खाने का भी प्रचलन है ।

धनतेरस - जानें क्या है पूजन का सही समय , ध्यान रखें इन बातों का , जान लें क्या खरीदें और क्या...

-दशहरे पर नए वस्त्र और आभूषण भी धारण किए जाते हैं। यदि आप ऐसा नहीं कर सकते तो आप इस दिन साफ वस्त्र अवश्य ही धारण करें। - दशहरे पर दोपहर के समय विजय मुहूर्त में अस्त्र और शस्त्र की पूजा भी की जाती है। 

- इस दिन दशहरा मिलन समारोह भी आयोजन किया जाता है। इतना ही नहीं दशहरे के अगले दिन बासी दशहरा मिलन की परंपरा भी है।

दक्षिण भारत में ज्येष्ठ मास की दशमी तिथि को मनाई जा रही हनुमान जयंती , जाने कैसे प्रसन्न करें...

- रावण दहन के बाद लोग एक दूसरे के घर जाकर गले मिलकर चरण छूकर बड़ों का आशीर्वाद लेते हैं। 

-दशहरे के दिन सभी लोग स्वर्ण के प्रतीक शमी पेड़ के पत्तों को एक दूसरे में बांटते हैं। 

- इस दिन बच्चों को दशहरी देने का भी प्रचलन है। दशहरी के रूप में बच्चों को रुपए,मिठाई और वस्त्र आदि दिए जाते हैं। 

Todays Beets: