Saturday, October 16, 2021

आज है सावन का आखिरी शनिवार , शनि दोष वाले इन छोटे उपायों से कर सकते हैं अपना बचाव

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आज है सावन का आखिरी शनिवार , शनि दोष वाले इन छोटे उपायों से कर सकते हैं अपना बचाव

नई दिल्‍ली । वो जातक जिनकी कुंडली में लंबे समय से शनि दोष है , या वो लोग जिनकी शनि की साढ़े साती या ढैय्या  चल रही है , इस खबर को ध्यान से पढ़ें । इस 22 अगस्‍त को रक्षाबंधन (Raksha Bandhan 2021) मनाने के साथ ही सावन का महीना भी खत्‍म हो जाएगा। लेकिन इससे पहले ऐसे जातकों को एक और अच्छा मौका मिला है कि वह शनि की वक्र दृष्टि से बचने का एक और अंतिम उपाय कर लें । जानकारों की मानें तो सावन के माह में किए गए धार्मिक काम काफी लाभ देने वाले होते हैं , ऐसे में जो लोग शनि की टेढ़ी नजरों से परेशान हैं , उनके पास शनि से राहत पाने के लिए कुछ उपाय हैं, अगर वह इस शनिवार इनका अनुसरण करें । 

असमें ऐसे जातक जिनकी कुंडली में शनि दोष (Shani Dosh) है या वे राशियां (Zodiac Sign) जिन पर शनि की साढ़े साती, ढैय्या चल रही है, वे सावन के इस आखिरी शनिवार में शिव जी की पूजा करें इससे शनि का बुरा असर कम होगा । वहीं आज के दिन हनुमान जी को चोला चढ़ाएं , दीपदान करें , काली दाल दान दें और पीपल के पेड़ पर तेल का दिया जलाएं । 

चलिए आपको बताते हैं कि आज के दिन आप क्या क्या करें...

- शनि के किसी भी प्रकार के दोष से बचने के लिए आज जातकों को शिवलिंग पर गंगा जल चढ़ाना चाहिए। इससे शिव जी प्रसन्‍न होकर विशेष कृपा करते हैं। 

- अगर संभव हो तो जल के अलावा शिवजी पर दूध-दही, घी, शहद आदि पंचामृत से अभिषेक करें और फिर से गंगा जल या जल अर्पित करें । 

- जातकों को चाहिए कि आज वे शिव को सफेद कपड़े और जनेऊ अर्पित करें । 

- शिव जी का अभिषेक करने, वस्‍त्र-जनेऊ अर्पित करने के बाद उनकी आरती जरूर करें. आरती करने से पूजा-अभिषेक का पूरा फल मिलता है । 

- इसके साथ ही सुबह के समय हनुमानजी का ऋृंगार कर सकते हैं , उन्हें चोला चढ़ाए और हनुमान की आरती करें । 

- इसके साथ ही दीपदान करें . इसके लिए पीपल के पेड़ के नीचे तेल का दिया जलाएं । दिया जलाने से पहले तेल में अपनी छवि को देखें । 


- काले अनाज का दान करें । 

- न्याय के देवता शनि को खुश करने के लिए शास्त्रों में कई उपाय बताए गए हैं, जिनमें से एक है शमी के पेड़ की पूजा ।

- शनिदेव की टेढ़ी नजर से बचने के लिए शमी की पूजा करना चाहिए. यह एक रक्षा कवच के रूप में देखा जाता है ।

- शमी के छोटे पौधे को आप घर में गमले में भी लगाकर पूजा करके भगवान शनि का आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं । 

- असल में पीपल और शमी दो ऐसे वृक्ष हैं, जिन पर शनि का प्रभाव होता है । पीपल का वृक्ष बहुत बड़ा होता है, इसलिए इसे घर में लगाना संभव नहीं होता ।

- वास्तु शास्त्र के मुताबिक नियमित रूप से शमी वृक्ष की पूजा की करने एवं इस वृक्ष के नीचे सरसो या तिल के तेल का दीपक जलाने से शनि का दोष भी खत्म हो जाता है। 

 

 

Todays Beets: