Friday, February 28, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

सपा ने जारी किया घोषणापत्र, बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक के लिए कई लोकलुभावन योजनाएं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सपा ने जारी किया घोषणापत्र, बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक के लिए कई लोकलुभावन योजनाएं

लखनऊ । यूपी के चुनावी समर में महागठबंधन की कवायदों के बीच सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार दोपहर अपनी पार्टी का घोषणापत्र जारी किया। इस दौरान मंच पर अखिलेश के संग उनकी पत्नी डिंपल यादव को दिखी लेकिन समाजवादी पार्टी के नेताजी उर्फ मुलायम सिंह नदारद रहे। इस सब से इतर अखिलेश यादव ने जहां अपना घोषणापत्र जारी करते हुए केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा वहीं बसपा पर भी हमलावर हुए। इस दौरान अखिलेश ने कहा, सपा सरकार ने पूरे राज्य में संतुलित विकास कराने का काम किया है। इसी क्रम में हमने मेट्रो का विस्तार करवाया। इतना ही नहीं राज्य में एक्सप्रेस-वे बनवाया है।

हमारी कथनी-करनी में अंतर नहीं

अखिलेश यादव ने अपने चुनावी घोषणापत्र में कई लोकलुभावन वादों की झड़ी लगाई है। इसमें उन्होंने बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक के लिए कई तरह की योजनाएं बनाने का ऐलान किया है। अपने भाषण में अखिलेश ने कहा कि पिछले पांच साल के दौरान हमने वो काम किए हैं जिनका हमने पिछले घोषणापत्र में जिक्र भी नहीं किया था। उन्होंने अपने समर्थकों से कहा कि मैंने समर्थकों से कहा था, पांच महीने जमकर मेहनत कर लो पांच साल की सरकार मिलेगी। 

जानिए घोषणापत्र में क्या कहा अखिलेश ने...

1-आगरा, मेरठ, कानपुर और बनारस में भी जल्द मेट्रो लाई जाएगी

2-तहसील स्तर पर फैमीली बाजार

3-मजदूरों को सस्ते रेट पर मिड डे मील

4-महिलाओं को बसों के किराए में 50 फीसदी की छूट

5-डेढ़ लाख रुपये से कम की कमाई वाले लोगों को मुफ्त में इलाज

6-एक करोड़ लोगों को एक महीने में एक हजार रु. पेंशन दी जाएगी।


7-गरीब किसानों के जानवरों के लिए एंबुलेंस सेवा शुरू की जाएगी। 

8-प्राथमिक स्कूल के गरीब बच्चों को एक किलो मिल्क पाउडर और एक किलो घी दिया जाएगा।

9-हर जिला फोर लेन हाईवे से जुड़ेगा

10-गरीब लोगों को मुफ्त गेंहू-चावल और जो लोग काम के लिए घर से बाहर जाते हैं उनके लिए भी खाने की व्यवस्था करना।

11-गरीब महिलाओं को फ्री प्रेशन कुकर

12-अल्पसंख्यकों के लिए स्किल डेवलेपमेंट सेंटर बनाए जाएंगे।

भाजपा पर हुए हमलावर

इस दौरान अखिलेश यादव ने भाजपा पर जमकर हल्ला बोलते हुए कहा-केंद्र की मोदी सरकार ने पिछले तीन सालों में देश की जनता को क्या दिया। सबका साथ सबका विकास की बात कहते हुए कभी हाथ में झाड़ू पकड़वा दी तो कभी योगा करता दिया लेकिन विकास के नाम पर उन्होंने क्या किया। अगर कोई हमसे पूछे की हमने क्या विकास किया है तो हम हर जिले के बारे में जानकारी दे सकते हैं। 

बसपा को बताया राजस्व के लिए खतराइसी क्रम में उन्होंने बसपा पर हमला बोलते हुए कहा,ये पत्थर वाली सरकार आजकल बहुत टीवी पर आ रही है। नोएडा में लखनऊ में जो पत्थर लगे हुए हैं उन्हें देखकर तो यही लगता है कि इन्हें मौका मिला तो ये कितने बड़े पत्थर लगा सकते हैं। अगर उन्हें पता चल गया कि महाराष्ट्र सरकार ने शिवाजी की कितनी बड़ी मूर्ति बनवाने की तैयारी की है तो वे भी ऐसा ही कुछ करेंगे और ऐसे में राजस्व का क्या होगा। 

Todays Beets: