Wednesday, July 17, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

हरिद्वार ग्रामीण सीट -यहां मतदाताओं ने जताया है कांग्रेस पर विश्वास...क्या इस बार भी हाथ का साथ देंगे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हरिद्वार ग्रामीण सीट -यहां मतदाताओं ने जताया है कांग्रेस पर विश्वास...क्या इस बार भी हाथ का साथ देंगे

देहरादून । उत्तराखण्ड में विधानसभा चुनावों के लिए मतदान का दिन नजदीक आता जा रहा है। राज्य में प्रत्याशियों के नामांकन की प्रक्रिया 20 से 27 जनवरी तक चली। नामांकन खत्म होने के बाद प्रत्याशियों संग पार्टी के बड़े नेताओं ने भी प्रचार तेज कर दिया है। राज्य में भाजपा, कांग्रेस जैसी राष्ट्रीय पार्टियां तो दमखम दिखा ही रही हैं लेकिन इस बार क्षेत्रिय पार्टियां और निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी अपना दम दिखाना शुरू कर दिया है।  पिछले विधानसभा (2012) चुनावों की बात करें तो यही हाल पहले भी था। चलिए इस बीच नजर डालते हैं उत्तराखंड की हरिद्वार ग्रामीण विधानसभा सीट पर। देखते हैं पिछली बार इस सीट पर मतदाताओं का 

रुझान किस ओर रहा था।

हरिद्वार ग्रामीण सीट का रुख करें तो पिछली बार यहां से कांग्रेस के यतिश्वरा नंद ने 25159 (32.41%) वोट पाकर बाजी मारी। लेकिन इसी सीट पर नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी के इरशाद अली ने 21284 (27.42%) वोट पाकर कांग्रेस के यतिश्वरानंद को कड़ी टक्कर दी थी । यतिश्वरानंद ने इनको 3935 (5.07%)  वोटों के अंतर से हराया था। तीसरे नंबर पर रहे भाजपा के उम्मीदवार शेषराज सिंह ने 19158 (24.68%) पाए तो उत्तराखंड क्रांतिदल के श्रीकांत वर्मा 6458 (8.32%) वोट पाकर चौथे नंबर पर थे। 18 उम्मीदवारों वाली इस सीट पर 96,683 मतदाता थे। इनमें से 77607 (80.27%) मतदाताओं ने वोट किया।


क्षेत्रिय पार्टियों ने दिखाया था दम

यूं तो पिछली बार विधानसभा चुनावों में कई निर्दलीय उम्मीदवार खड़े हुए थे, जिन्होंने बड़े नेताओं का चुनावी गणित बिगाड़ा था। लेकिन हरिद्वार ग्रामीण सीट पर पिछली बार कोई भी निर्दलीय उम्मीदवार टक्कर देता नजर नहीं आया। हालांकि क्षेत्रिय पार्टी को भाजपा से ज्यादा तरजीह दी गई। इस सीट से छह निर्दलीय उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमाने उतरे थे लेकिन कुछ खास नहीं कर पाए। वोट बैंक की बात की जाए तो सभी निर्दलीय उम्मीदवारों को महज डेढ़ फीसदी (1226) वोट मिले थे । इससे साफ हैं कि हरिद्वार ग्रामीण सीट के मतदाताओं का रुझान राष्ट्रीय और क्षेत्रिय पार्टी की तरफ ज्यादा है।

Todays Beets: