Friday, February 28, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

लालू ने राहुल की जगह प्रियंका पर जताया भरोसा, भाजपा बोली-शिकंजा कसने के बाद 'पावर' बचाने की जुगत में राजद प्रमुख

अंग्वाल न्यूज डेस्क
लालू ने राहुल की जगह प्रियंका पर जताया भरोसा, भाजपा बोली-शिकंजा कसने के बाद

नई दिल्ली । बेनामी संपत्ति मामले में खुद पर शिकंजा घिरता देख राजद प्रमुख लालू यादव ने आगामी 2019 चुनाव के लिए सपा-बसपा गठबंधन को साथ आने की सलाह दी है। साथ ही उन्होंने प्रियंका वाड्रा को भी समर्थन देने की ओर इशारा किया है। राजद के 21वें स्‍थापना दिवस के अवसर पर लालू प्रसाद यादव ने बुधवार को कहा था कि वे राहुल की जगह प्रियंका वाड्रा का नेतृत्‍व पसंद करते हैं। हालांकि लालू के इस सियादी दांव पर भाजपा ने गुरुवार को कहा कि लालू बेनामी संपत्ति मामले का खुलासा होने के बाद खुद को घिरता हुआ देख रहे हैं। शिकंजा कसने के बाद अब उन्हें अपनी सत्ता और पद की चिंता सताने लगी है।

ये भी पढ़ें- जम्मू—कश्मीर में दिखा सेना को फ्री हैंड देने का फायदा, इस साल अब तक 92 आतंकियों को किया ढेर

असल में राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव इन दिनों बेनामी संपत्ति के मामले में परिवार के साथ घिरते नजर आ रहे हैं। इस बीच पार्टी के 21 के स्थापना दिवस पर उन्होंने राहुल गांधी के बजाए प्रियंका वाड्रा को समर्थन देने की ओर इशारा करते हुए सुझाव दिया कि आगामी 2019 चुनाव के लिए सपा-बसपा गठबंधन आगे आ सकती है। इस बयानबाजी पर भाजपा नेता नलिन कोहली ने कहा कि अब लालूजी को अपनी सत्ता-पावर और अपने ऑफिस को लेकर चिंता सताने लगी है। वह चाहते हैं कि किसी भी प्रकार से वह अपना ऑफिस बनाए रखें क्‍योंकि बेनामी संपत्‍ति को लेकर पूछ गए सवालों में से उन्होंने किसी का जवाब नहीं दिया है। इस दौरान नलिन कोहली ने कहा कि अगर राहुल की तुलना में वह प्रियंका वाड्रा को समर्थन देने की बात कह रहे हैं तो इस बारे में मुझसे नहीं बल्कि कांग्रेस के प्रवक्ता से पूछना ज्यादा बेहतर होगा। 

ये भी पढ़ें- आंध्र प्रदेश के मंत्री ने बताया बीयर को 'हेल्थ ड्रिंक' और गिनाए इसके अनेक फायदे... 


बता दें कि पार्टी के स्‍थापना दिवस पर लालू ने कहा कि वे राहुल गांधी की जगह प्रियंका वाड्रा का नेतृत्‍व पसंद करते हैं। इसके बाद उन्‍होंने 2019 के आम चुनाव के लिए सपा, बसपा, तृणमूल कांग्रेस, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के गठबंधन का प्रस्‍ताव रखा। लालू ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा, ‘अखिलेश यादव और मायावती के साथ आने की काफी संभावना है। यदि ऐसा होता है तो 2019 का मैच खत्‍म। रॉबर्ट वाड्रा, प्रियंका जी, केजरीवाल, ममता दीदी या हमारे रिवार को तोड़ने की कोशिश की जा रही है।

ये भी पढ़ें बीजेपी नेता ने चलती बस में बनाए शारीरिक संबंध, वीडियो वायरल, महिला ने लगाया रेप का आरोप 

 

Todays Beets: