Thursday, June 27, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

देश की IT कंपनियों की दशा में आया सुधार , चार प्रमुख कंपनियां कर रही हैं बंपर भर्तियां

अंग्वाल न्यूज डेस्क
देश की IT कंपनियों की दशा में आया सुधार , चार प्रमुख कंपनियां कर रही हैं बंपर भर्तियां

नई दिल्ली । भारत में एक समय ऐसा दौर आया जब देश की IT कंपनियों पर संकट के बादल छाने लगे थे । कई बड़ी कंपनियों की हालत पतली हो गई थी , लेकिन मौजूदा दौर में आईटी कंपनियों की स्थिति में तेजी से सुधार नजर आ रहा है । जानकारी के मुताबिक, देश की बड़ी आईटी कंपनियों ने इन दिनों रोजगार देने में तेजी आई है । मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, TCS और INFOSIS जैसी बड़ी कंपनियां पिछले कुछ समय से काफी लोगों को भर्ती कर रही है । दोनों ही कंपनियों ने पिछले सालों कीएक रिपोर्ट के मुताबिक, IT सेक्टर की कई कंपनियां पिछले कुछ समय में अपने कुछ कर्मचारियों को अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाने के चलते नौकरी से निकाल भी रही थी। हालांकि अब कंपनियां नई तकनीक के जानकारों की बंपर भर्ती कर रही है ।

मिली जानकारी के मुताबिक , IT सेक्टर की बड़ी कंपनी टाटा कंसल्टिंग सर्विसेस (टीसीएस), इंफोसिस, विप्रो और एचसीएल टेक्नॉलजीज की लोगों को नौकरी पर रखने की दर में इजाफा हुआ है ।  पिछले कारोबारी साल में जबरदस्त गिरावट के बाद देश की चार टॉप आईटी कंपनियों में भर्तियां आठ साल के उच्चतम स्तर पर हैं ।

जानकारों का कहना है कि इन आईटी कंपनियों की भर्ती प्रक्रिया में हुए इजाफे ने इस बात के संकेत दिए हैं कि देश का आईटी सेक्टर अब संभवत: भविष्य में 'डिमांड' को लेकर आशावान है । यही कारण है कि एक बार फिर से इन कंपनियों ने बड़े स्तर पर भर्तियां शुरू कर दी हैं। रिपोर्ट के मुताबिक , जिन चार कंपनियों की बात हुई है, उनमें कुल कर्मियों की संख्या मार्च 2019 तक 9.6 लाख है. यह एक साल पहले के मुकाबले 8.9 फीसदी है. कंपनियों की आमदनी भी तेजी से बढ़ रही है।


मिले आंकडो़ं के अनुसार , वर्ष 2013 से लेकर 2018 तक के कारोबारी साल में इन कंपनियों में हर साल 70 हजार से भी कम लोगों की भर्ती हुई जबकि इस साल यह आंकड़ा 78,500 तक पहुंच गया है ।

 

Todays Beets: