Thursday, June 27, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

यूपी पावर कारपोरेशन देगा राज्य में करीब 15 लाख युवाओं को रोजगार , बिलिंग - राजस्व वसूली से लेकर कई पदों पर करेगा भर्ती

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूपी पावर कारपोरेशन देगा राज्य में करीब 15 लाख युवाओं को रोजगार , बिलिंग - राजस्व वसूली से लेकर कई पदों पर करेगा भर्ती

लखनऊ । यूपी पावर कारपोरेशन ने गांवों में बिजली के साथ ही रोजगार पहुंचाने की भी योजना बनाई है । इसके तहत उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार सृजित किए जा रहे है, जिसमें करीब 15 लाख से अधिक युवाओं को लाभ पहुंचेगा । इन युवाओं को निर्माण कार्य, रखरखाव के अलावा बिलिंग- राजस्व वसूली जैसे कामों के लिए जोड़ा जाएगा । पॉवर कारपोरेशन ने पिछले दिनों 7 हजार से अधिक स्थायी और करीब 20 हजार से अधिक अस्थायी पदों पर नौकरियां दी हैं। चुनाव आचार संहिता खत्म होने के बाद अब इसमें तेजी आएगी।

बता दें कि पावर कारपोरेशन आने वाले दिनों में अवर अभियंता से लेकर  कंप्यूटर आपरेटर, ऑफिस स्टाफ, बिजली मरम्मत करने वालों के साथ ही कई अन्य पदों पर भर्तियां निकालने वाला है । इस योजना पर यूपी पॉवर कारपोरेशन के अफसरों का कहना है कि स्थायी भर्तियों के अलावा बड़े स्तर पर संविदा-आउटसोर्सिंग के जरिए कर्मचारियों को लिया जाएगा। इससे बेहतर बिजली देने के साथ राजस्व वसूली और बिलिंग की स्थिति भी सुधरेगी।

मिली जानकारी के मुताबिक अभी कई जिलों में उपकेंद्रों के रखरखाव की जिम्मेदारी का काम संविदा या आउटसोर्स कर्मियों पर निर्भर है। कई उपकेंद्र में तो अवर अभियंता तक संविदा पर हैं। उपकेंद्रों की लगातार बढ़ती संख्या के चलते कर्मचारियों की संख्या में भी बढ़ोत्तरी होगी। इतना ही नहीं बिजली फाल्ट होने की स्थिति में उसे ठीक करने वाले कर्मचारियों में चार से पांच लोग होते हैं। इसमें प्रशिक्षित और अप्रशिक्षित दोनों तरह के कर्मचारियों की नियुक्ति होती है, जिनकी संख्या अब बढ़ाई जाएगी ।


बात अगर बिलिंग जनसेवा केंद्र की करें तो गांवों में सबसे अहम काम 100 फीसदी बिलिंग का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए बिलिंग एजेंसियों के जरिए भर्तियां होंगी। वहीं राजस्व वसूली के लिए भी गांव-गांव में काम दिया जाना है। जनसेवा केंद्र पर बिजली बिल जमा करने का काम प्रायोगिक तौर पर काफी सफल रहा है। बता दें कि पश्चिमांचल वितरण निगम के कई जिलों में यह काम बेहतर ढंग से हो रहा है । ऐसे में अब इन कर्मचारियों की संख्या बढ़ाकर सुविधाएं बेहतर करने पर ध्यान दिया जा रहा है ।

 

Todays Beets: